nav Pradesh logo

J&K में बाढ़ की चेतावनी जारी, जम्मू क्षेत्र में तीन लोगों की मौत

Last Modified Aat : 01-Jul-18

News image
News image
News image
<

नई दिल्ली: दक्षिण पश्चिम मॉनसून के शुक्रवार को देशभर में पहुंचने के बाद इसने मजबूत होना शुरू कर दिया है. बारिश जनित घटनाओं में देश के उत्तर तथा पूर्वोत्तर क्षेत्र में चार लोगों की मौत हो गई. जम्मू कश्मीर में बाढ़ की चेतावनी जारी की गई और साथ ही अमरनाथ यात्रा में भी व्यवधान पड़ा. 

राष्ट्रीय राजधानी में आज कुछ स्थानों पर हुई. बारिश से तापमान सामान्य से नीचे आ गया लेकिन दिन में उमस रहीं. अधिकारियों ने बताया कि आर्द्रता 92 से 66 प्रतिशत के बीच रही. शहर के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश के साथ अधिकतम तापमान 35 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 27.5 डिग्री सेल्सियस पर रहा.

 
 

मॉनसून उत्तर की ओर मुड़ गया है
भारतीय मौसम विभाग ने शनिवार को अपने बुलेटिन में कहा कि मॉनसून उत्तर की ओर मुड़ गया है. एक से छह जुलाई तक मानसून की सक्रियता हिमालय के तराई क्षेत्र में रहेगी. इसके परिणामस्वरूप पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र में जम्मू कश्मीर और हिमाचल प्रदेश तथा उत्तर प्रदेश के उत्तरी इलाकों में अधिकतर स्थानों जबकि पंजाब, हरियाणा और बिहार के कुछ इलाकों में रविवार से मंगलवार तक मूसलाधार बारिश होने का अनुमान जताया गया है. 

जम्मू-कश्मीर में तीन लोगों की मौत 

वहीं जम्मू कश्मीर के जम्मू क्षेत्र में कई जिलों में वर्षा जनित हादसों में एक महिला सहित तीन लोगों की मौत हो गई तथा कम से कम 12 मकान क्षतिग्रस्त हो गए. कश्मीर में रुक-रुक कर बारिश जारी रहने के बाद घाटी में बाढ़ की चेतावनी जारी की गई है जबकि घाटी के दक्षिणी हिस्सों में पानी का स्तर घट रहा है. अधिकारियों ने शुक्रवार को दक्षिण कश्मीर में बाढ़ की चेतावनी जारी की थी. आज ग्रीष्मकालीन राजधानी सहित मध्य कश्मीर के निचले इलाकों में भी बाढ़ की चेतावनी जारी करते हुए लोगों को सतर्क रहने को कहा गया है. खराब मौसम के चलते घाटी में शनिवार को स्कूल बंद रहे. श्रीनगर के उपायुक्त सैयद आबिद राशीद शाह ने कहा कि निचले इलाके और श्रीनगर में झेलम नदी के तट पर रहने वाले लोगों से सतर्क रहने का अनुरोध किया गया है.

अमरनाथ यात्रा रोकनी पड़ी
अधिकारियों ने बताया कि शनिवार को खराब मौसम के चलते अमरनाथ यात्रा पहलगाम और बालटाल दोनों ही मार्गों पर रोकनी पड़ी. श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड (एसएएसबी) के एक प्रवक्ता ने यहां कहा कि दोनों ही मार्गों पर यात्रा रोकनी पड़ी क्योंकि वर्षा के चलते रास्ते में फिसलन हो गई है. इस बीच अरूणाचल प्रदेश के लोअर सिआंग जिले में शुक्रवार को भूस्खलन की घटना में घायल हुए आईटीबीपी के एक जवान की शनिवार को मौत हो गई और इस तरह मरने वाले जवानों की संख्या बढकर पांच हो गई है. एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि आठ घायल जवानों में से दो की हालत गंभीर है.