nav Pradesh logo

प्रैग्‍नेंसी के दौरान किन अंगों में सूजन आ जाती है और इससे कैसे निपटें

Date : 28-Jun-18

News image
<

 मां बनना हर औरत का सपना होता है। मां बनने का अहसास सिर्फ वही औरत समझ सकती है जो गर्भवती हो या मां बन चुकी हो। एक तरफ जहां ये पल खुशी देने वाला होता है, वहीं इस समय गर्भवती महिला के शरीर में कई तरह के बदलाव आते हैं। हार्मोन चेंजेस आने के कारण उनको कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। शरीर में सूजन आना भी उन्हीं में से एक हैं। आज हम आपको बताएंगे कि  प्रैग्‍नेंसी के दौरान किन अंगों में सूजन आ जाती है और इससे कैसे निपटें। 
 1. पैरों में सूजन 
गर्भवस्था में अक्सर महिलाओं को पैरों में सूजन होने की शिकायत होने लगती हैं। पैरों में सूजन आने का कारण होता यूरिन में प्रोटीन की मात्रा बढ़ना। इसके अलावा ज्यादा देर तक खड़े रहने या पैरों को लटाकर बैठने से भी सूजन की समस्या होने लगती है। अगर आपको भी पैरों में सूजन की समस्या है तो तुंरत डॉक्टरी जांच करवाएं। इसके साथ ही पैरों को गुनगुने पानी में कुछ देर तक डुबोकर भी रख सकते हैं। इसके अलावा पैरों की सूजन को कम करने के तेल से मसाज भी कर सकते हैं।
2. ब्रेस्‍ट में सूजन
हार्मोन में बदलाव होने के कारण गर्भावस्था में ब्रेस्ट में सूजन होने लगती है। इसके कारण ब्रेस्ट में दर्द भी होती है। अगर आपको भी इन दिनों में ब्रेस्ट सूजन या दर्द होती है तो जितना हो सके नमक का सेवन कम खाएं। नमक कम और पानी ज्यादा पीने से कुछ ही दिनों में स्तनों के दर्द से राहत मिलेगी।
3. चेहरे पर सूजन
कुछ महिलाएं खाने पीने में बदलावट या हार्मन में आए बदलाव के कारण मोटी हो जाती है। वहीं कुछ महिलाएं एेसी भी होती हैं जिनके चेहरे पर इन दिनों सूजन आने लगती है। चेहरे की सूजन को कम करने के लिए एक्सरसाइज करें। कुछ दिनों तक लगातार एक्सरसाइज करने से चेहरे की सूजन कम हो जाएगी।
4. मसूड़ों में सूजन
मसूड़ों में सूजन आना भी इस समय में एक आम समस्या है। इस अवस्था में मसूड़ों में दर्द होने का कारण हार्मोन में बदलाव, दांतों में फंसे हुए भोजन और दवाएं भी हो सकती है। अगर मसूड़ों में दर्द  नमक के पानी से कुल्ला करें।
5. प्राइवेट पार्ट में सूजन
प्राइवेट पार्ट में सूजन आने से यूरीन डिस्चार्ज करने में भी तकलीफ होने लगती है। इस अवस्था में प्राइवेट पार्ट में सूजन आना एक आम बात है। मगर फिर भी डॉक्टर से संपर्क जरूर कर लें।