nav Pradesh logo

क्षेत्र के एक जनप्रतिनिधि ने ग्रामीणों को पैसा डबल होने का झांसा देकर करोड़ों रुपये जमा कराया,, जनता जमा पैसा लेने के लिए भटक रही है : ऋचा जोगी  

Date : 09-Aug-18

News image
News image
<

छुरा ।छत्तीसगढ़ जनता काग्रेसं के सुप्रीमो अजीत प्रमोद कुमार जोगी के पुत्र वधु ऋचा जोगी ने अपने गरियाबंद जिले के देवभोग विकासखंड के दो दिवसीय तूफानी दौरे के बाद स्थानीय सर्किट हाउस में एक भेट वार्ता में बताई कि ग्राम छैलडोगरीं एंव कांडेकेला के हजारों गरीब आदिवासियों की गाढीं पसीने की कमाई का पैसा क्षेत्र के एक जनप्रतिनिधि द्वारा पैसा डबल करने का झांसा देकर एक कंपनी एडीबी आरोग्य धन वर्षा (चिट फंड)में जमा कराया और उक्त चीटफंण कंपनी का अता-पता नहीं है भोले-भाले गरीबों के करोड़ों रुपये को हजम कर दिया गया ग्रामीणों ने अपनी खून-पसीने की गाढीं कमाई के पैसों को वापस पाने के लिए उक्त जनप्रतिनिधि एंव जिले के आला अधिकारियों को भी आवेदन देकर निवेदन भी किया लेकिन उक्त चीटफंण कंपनी के ऐजेंट जनप्रतिनिधि के विरुद्ध मुंह खोलने की हिम्मत नहीं दिखा पाए रहे हैं उक्त नेता के प्रभाव के चलते आज सात साल से विन्द्रानवागढं क्षेत्र के हजारों कम पढ़े-लिखे लोगों को न्याय नहीं मिल रहा है आखिर दबंग जनप्रतिनिधि के खिलाफ बोलने की हिम्मत किसी क्षेत्रीय लोगों में नहीं है। आज भी यह क्षेत्र पूरी तरह पिछड़ा हुआ है लोग अपने अधिकारों के लिए दर दर भटकने को मजबूर हैं लेकिन अधिकार न्याय दिलाने में शासन-प्रशासन विफल है। देवभोग ब्लाक में बिजली की आपूर्ति भगवान भरोसे चल रही हैं दूसरी ओर प्रदेश की भाजपा सरकार विकास- विकास कहते-कहते ढिंढोरा पीट पीट कर चिल्ला रही है। भाजपा नेताओं ने अपने हाथों से अपनी पीठ थपथपाकर खुशियों में मन का लड्डू खा रहे हैं। वर्तमान भाजपा शासनकाल में चीटफंण कंपनी के नाम पर जनता को भ्रमित कर करोड़ों रुपये का डाका डालने वाले नेता के विरूध्द जांच-पड़ताल होने की संभावना मुश्किल है लेकिन मैं जिले के कलेक्टर, पुलिस कप्तान के साथ मुख्यमंत्री रमनसिंह जी से मांग करतीं हूँ उक्त चीटफंण कंपनी के साथ-साथ कंपनी में ऐजेंट के रुप में काम करने वाले जनप्रतिनिधि के विरूध्द दंण्डात्मक कार्यवाही करते हुए गरीब जनता को उनकी कमाई की पैसा वापस दिलाया जाये। अगर शासन-प्रशासन इस दिशा में ध्यान नहीं दिया तो ठगे गयी जनता न्यायालय की शरण में जाने को मजबूर होगें न्याय पाने के लिए।