nav Pradesh logo

मुंगेली में हर्बल पौधों का नि:शुल्क वितरण  

Date : 09-Aug-18

News image
News image
News image
<

मुंगेली (नवप्रदेश)। सरस्वती शिशु मंदिर उच्चतर माध्यमिक विद्यालय मुंगेली में छत्तीसगढ़ राज्य औषधीय पादप बोर्ड रायपुर, राही ग्रामीण विकास एवं शोध संस्थान बिलासपुर के सहयोग से वन मण्डल के द्वारा 1000 भैया/बहिनों को नि:शुल्क हर्बल पौधों का वितरण किया गया। इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि रामप्रताप सिंह अध्यक्ष छ.ग.रा. औषधीय पादप बोर्ड रायपुर, अध्यक्षता पुन्नू लाल मोहले खाद्य मंत्री एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री छ.ग.शासन, तोखन साहू संसदीय सचिव छ.ग.शासन, जाघव श्रीकृष्ण डी.एफ.ओ. वन मण्डल मुंगेली, डॉ. दीनानाथ उपाध्याय शास्त्रीय अध्यक्ष छ.ग.जीव रक्षा शोध संस्थान, अनिरूध अग्रवाल सचिव राही ग्रामीण विकास एवं शोध संस्थान बिलासपुर, लोकेश चंद्राकर सी.ओ. जिला पंचायत उपस्थित थे, साथ में भारी संख्या में अभिभावकगण भी इस कार्यक्रम में उपस्थित रहे। अतिथियों ने भगवान धंवतरी की पूजा अर्चना कर कार्यक्रम का शुभांरभ किया।

अतिथियों ने बताया कि छ.ग. में चिकित्सा के क्षेत्र में अपनी एक विशिष्ट परंपरा रही है। छ.ग. में आज भी प्राथमिक उपचार के लिए स्थानीय वैद्ययों/परांपरिक चिकित्सों के पास जाते है। ये वैद्य, वे लोग है जिन्हे परांपरिक चिकित्सा पद्वति का ज्ञान अपने पूर्वजों से प्राप्त हुआ है। स्थानीय जन समुदाय प्रकृति से जुड़े होने के कारण वैद्यों पर भी पूर्ण आस्था विश्वास रखते है। प्राथमिक उपचार हेतु औषधी पौधे अत्यंत लाभकारी है एवं इनका शरीर पर कोई दुश्प्रभाव नहीं पड़ता है।

इसी धारणा को ध्यान में रखते हुए छ.ग.रा. औषधी पादप बोर्ड द्वारा मुंगेली जिले में 200000 लाख औषधी पौधो का वितरण किया जाना है। जिसमें अडूसा, एलोवेरा, अश्वगंधा, कालमेघ, बेल, गिलोय, गुड़मार, मंडूकपर्णी, पत्थरचूर, सतावर, स्टीविया, तुलसी आदि औषधी पौधों को छात्रों को वितरित किया गया। इससे औषधी पौधो बच्चों के माध्यम से परिवारों में पहुॅचे और प्रत्येक परिवारों में होम हर्बल गार्डन बने एैसा उनका आग्रह भी हुआ। अंत में अनिरूध अग्रवाल ने अतिथियों का एवं सरस्वती शिशु मंदिर परिवार का आभार व्यक्त किये।