nav Pradesh logo

रेलवे संघर्ष समिति 90 विधानसभा में रखेगी अपनी बात

Date : 09-Aug-18

News image
News image
News image
News image
<

कवर्धा (नवप्रदेश)। रेल्वे संघर्श समिति प्रदेष के पूरे 90 विधानसभा क्षेत्र का दौरा कर जनमानस को यह बताने का प्रयास करेगी कि मुख्यमंत्री के जिलेवासी कैसे ठगे जा रहे है। रेल्वे संघर्श समिति ने पिछले 44 दिनो से रेल लाईन का रास्ता बदल दिये जाने का विरोध कर रही है। ज्ञात हो कि उस्लापुर से तखतपुर, मुंगेली, कंतेली लोरमी, पंडरिया, पांडातराई, पोंडी, बोड़ला, कवर्धा से डोंगरगढ़ रेल लाईन का सर्वे हुआ था। पुराने सर्वे को रेल विभाग ने अपनी स्वीकृति दे दी थी किंतु छग सरकार नई रेल कार्पोरेषन तैयार कर लाईन को बदलने का काम कर दी है। समिति के लोग निहित स्वार्थ का आरोप जनप्रतिनिधियों के ऊपर लगा रहे है। आधुनिकता के युग मे संचार का विषेश महत्व है इसे भी ध्यान मे रखा जाये तो वर्तमान रेल्वे लाईन कलमीटार बिलासपुर से लगभग 20 किमी की दूरी पर है जो लोगो के लिए असुविधाजनक है। इधर पंडरिया मुख्यालय से लगभग 35 किमी दुर केवल रेल्वे लाईन जाने की बात हो रही है जिससे बौखलाएं क्षेत्रवासी विगत 4 माह से आंदोलन कर रहे हैं। क्रमिक भूख हड़ताल जिले के इतिहास मे सबसे लंबा आंदोलन रेल्वे संघर्श समिति पंडरिया एक सुत्रीय मांग पुरानी सर्वे के आधार पर रेल लाईन बनाई जाये को लेकर कर रहे है। अब तक आंदोलन शांति पूर्वक चल रहा है किंतु उग्रता की ओर लगातार अग्रेशित भी हो रहा है। आंदोलन मे महिलाओं द्वारा बुलंदी से आवाज उठाना, हर समाज के लोगो का समर्थन मिलना एवं सभी राजनैतिक दलो के नेताओ द्वारा इस आंदोलन मे भाग लेना यह दर्षाता है कि लोग अब अपनी मांग रेल लाईन पर अड़ गये है। सरकार को इस ओर पहल करनी चाहिए। इधर रेल्वे संघर्श समिति ने ऐलान किया है कि छग के पूरे 90 विधानसभा क्षेत्र मे जाकर अपनी बात रखेंगे कि जिले के 80 प्रतिषत आबादी के साथ ही अंतिम छोर मे रहने वाले आदिवासियों को रेल लाईन से वंचित रखा जा रहा है। वहीं इस लाईन से आर्थिक लाभ भी नही होगा और जिले के दो षक्कर कारखाना एवं बाक्साईट खदान को भी लाईन से नजर अंदाज कर दिया गया है। 44वें दिन के भूख हड़ताल पर ग्राम मैनपुरा के कृशक गौकरण साहू हरि साहू बैठे।