nav Pradesh logo

विकास की राह में तेजी से आगे बढ़ रहा प्रदेश : प्रभारी मंत्री

Date : 09-Aug-18

News image
News image
News image
<

पाली में विकास कार्यों का हुआ भूमिपूजन

कोरबा (नवप्रदेश)/ राज्य बनने से पहले छत्तीसगढ की पहचान एक पिछड़े क्षेत्र के रूप में थी। राज्य शासन द्वारा विकास की दिशा में आगे बढने के साथ ही सरकार ने यहा की सांस्कृतिक विरासत एवं पुरातात्विक महत्व को सहेजने और पर्यटन को बढ़ावा देने के साथ पिछड़े क्षेत्रों के विकास में महत्वपूर्ण कदम उठाई जा रही है। जिला खनिज न्यास मद से जिले में स्वास्थ्य, शिक्षा, अधोसंरचना, सिचाई आदि के क्षेत्र में लगातार कार्य किये जा रहे है। नगरीय निकाय क्षेत्रों में   मिशन क्लीन कार्यक्रम के साथ स्वच्छता पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। साफ-सफाई एवं कचरा निपटारा में उचित प्रबंधन से छत्तीसगढ़ को देश भर में प्रशंसा मिल रही है। शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने, एलईडी लाइट लगाकर नगर को रौशन बनाने का काम किया गया है। कोरबा में एजुकेशन हब एवं सीपेट जैसी संस्था की स्थापना विकास की पहचान है। यह कहना है जिले के प्रभारी मंत्री श्री अमर अग्रवाल का। पाली में विकास कार्यों की भूमिपूजन एवं एक सामाजिक कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि पहुचे नगरीय प्रशासन एवं विकास, वाणिज्यिक कर, उद्योग एवं सार्वजनिक उपक्रम एवं जिले के प्रभारी मंत्री श्री अग्रवाल ने कहा कि राज्य बनने के बाद छत्तीसगढ का तेजी से विकास हुआ है।  मुख्य अतिथि श्री अमर अग्रवाल ने कहा कि संचार क्रांति योजना के तहत प्रदेश लाखों परिवारों को स्मार्ट फोन देने के साथ मुख्यमंत्री खाद्य सुरक्षा अधिनियम लागू करने के साथ ही सभी परिवारों का स्मार्ट कार्ड बनाकर 50 हजार रूपये तक मृफत इलाज की व्यवस्था शासन ने की है। प्रदेश में चैबीस घंटे बिजली, गांव गांव तक सड़क निर्माण, पुल, भवन तथा कृषि को बढ़ावा देने उन्नत तकनीकों किसानों को सब्सिडी दी जा रही है। देश के प्रधानमंत्री ने प्रधानमंत्री आवास योजना, प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना से गरीब परिवारों को रहने के लिये पक्का मकान और भोजन पकाने के लिये कम कीमत पर गैस कनेक्शन प्रदान किया। खनिज वाले जिले को लाभ पहुचाने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने जिला खनिज फंड की शुरूवात की। उन्होंने कहा कि खनिज फंड से कोरबा में एजुकेशन हब का निर्माण कराया जा रहा है। भावी पीढ़ी इस एजुकेशन हब में पढ़ाई कर अपना भविष्य संवार पायेंगे। 

उन्होंने कहा कि वन अधिकर पट्टा के साथ, आबादी पट्टा, जिसके पास जमीन नही है उनको मकान बनाकर देने की योजना है। मंत्री श्री अग्रवाल ने पाली में  46 लाख 27 हजार की लागत से शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में सांस्कृतिक सभाकक्ष निर्माण, पाली नगर पंचायत क्षेत्र में दो करोड़ से अधिक की लागत से निर्मित होने वाली सीसी रोड और नाली निर्माण कार्यों का भूमि पूजन किया। 

आदिवासी समाज के उत्थान की दिशा में कार्य कर रही सरकार-

विश्व आदिवासी दिवस पर कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में पहुचे मंत्री श्री अग्रवाल ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने गरीबों, मजदूरों के कल्याण के लिये योजनाएं बनाई है। प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने आदिवासी समाज के उत्थान के लिये अनेक योजनाये संचालित कर उन्हें आगे बढ़ाने का काम किया है। प्रयास विद्यालय, एजुकेशन हब, दिल्ली में आईएएस आदि की कोचिंग के लिये सुविधा, वनवासियों के हित के लिये वनोपज खरीदी मूल्य में वृद्धि, तेंदूपत्ता प्रति मानक बोरा की राशि में वृद्धि की गई है। डीएमएफ की राशि से कोचिंग के लिये व्यवस्था की जा रही है। अलग से प्राधिकरण बनाकर आदिवासी वर्ग के विकास में हर संभव कोशिश करने का प्रयास सरकार ने किया है। उन्होंने कहा कि समाज में जागृति आवश्यक है। जागृत समाज ही विकास की राह में आगे बढ़ पायेगा। सरकार द्वारा समाज के विकास के लिये जो भी योगदान की आवश्यकता है दिया जायेगा। उन्होंने आदिवासी समाज द्वारा स्थापित बड़ादेव शक्तिपीठ परिसर के बाउंड्रीवाल, समतलीकरण कार्य के लिये राशि प्रदान करने की घोषणा की।

 सांसद डॉ बंशीलाल महतो ने कहा कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के नेतृत्व में प्रदेश के सभी वर्गो के कल्याण के लिये योजनाएं चलाई जा रही है। इसी का परिणाम है की प्रदेश का चैतरफा विकास हो रहा है। कार्यक्रम में संसदीय सचिव लखनलाल देवांगन, खाद्य आयोग के अध्यक्ष ज्योतिनंद दुबे, जिला पंचायत अध्यक्ष देवी सिंह टेकाम, श्रीमती संजू अजय जायसवाल नगर पंचायत पाली की अध्यक्ष,कलेक्टर मोहम्मद कैसर,पुलिस अधीक्षक श्री मयंक श्रीवास्तव, निगम आयुक्त रणबीर शर्मा, पूर्व महापौर जागेश लांबा, निगम सभापति अशोक चावलानी, जनपद अध्यक्ष पोड़ी उपरोड़ा श्रीमती किरण मरकाम आदि की उपस्थिति में सम्पन्न हुआ।