nav Pradesh logo

शहीदों के गांवों में आयोजित होंगे शहीद सम्मान : शिवराज

Date : 08-Aug-18

News image
News image
News image
News image
News image
<

देश और राज्य के लिए अपनी वीरता और शौर्य का प्रदर्शन करने वालों को किया जाएगा याद

सिवनी। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज कहा कि मध्यप्रदेश के सभी जिलों में आगामी 14 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के एक दिन पूर्व शहीदों के ग्रामों में शहीद सम्मान मनाकर उनके परिवारों का सम्मान किया जायेगा ताकि सभी को देशभक्ति की प्रेरणा मिलती रहे। जन आशीर्वाद यात्रा के सिलसिले में सिवनी जिले आए श्री चौहान ने आज सुबह यहां संवाददाताओं से चर्चा के दौरान ये बात कही।

उन्होंने कहा कि सिवनी जिला शहीदों का जिला है, बिंदु कुमरे जैसे शहीदों ने अपनी जान पर खेलकर स्वतंत्रता बनाये रखने में मातृभूमि की रक्षा कर अपना बलिदान दिया है। मध्यप्रदेश के सभी जिलों में आगामी 14 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के एक दिन पूर्व ऐसे शहीदों के ग्रामों में शहीद सम्मान मनाकर उनके परिवारों का सम्मान किया जायेगा। 

कांग्रेस पर हमला बोलते हुए मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कांग्रेस सर्जिकल स्ट्राइक पर प्रमाण मांगती है, आतंकवादियों के घर जाना, मुठभेडों को फर्जी घोषित करना उनकी सोच हो सकती है, भाजपा सरकार शहीदों का सम्मान करती है। उन्होंने कहा कि नौ अगस्त को विश्व आदिवासी दिवस पर समस्त आदिवासी जिलों व विकासखंडों में कार्यक्रम आयोजित किये जायेगें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश में 1.5 लाख किलोमीटर सडकों का जाल बिछ चुका है, पहले बिजली की उत्पादन क्षमता 29 सौ मेगावाट थी जो अब 18 हजार 600 हो गई है। पहले सिंचाई योजनाएं 7.5 हेक्टेयर थी जो अब 40 लाख हेक्टेयर हो गई है। प्रत्येक मापदंड पर मध्यप्रदेश तेजी से बढ़ रहा है। 

श्री चौहान ने कहा कि विकास की दृष्टि से सिवनी जिले को आगे बढ़ाने के प्रयासों के तहत जिले में मेडीकल कालेज खोले जाने हेतु केबिनेट में प्रस्ताव लाकर पास किया गया है। 

मध्यप्रदेश को बनाएंगे समृद्ध राज्य: शिवराज

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मध्यप्रदेश को बीमारू राज्य से विकासशील और फिर विकसित राज्य बनाने के बाद अब समृद्ध राज्य बनाएंगे। उन्होंने आज यहां मंत्रालय में वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों के साथ समृद्ध मध्यप्रदेश का विजऩ साझा किया। श्री चौहान ने विकास के सभी प्रमुख क्षेत्रों में समृद्ध मध्यप्रदेश बनाने का रोडमैप तैयार करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि बिजली, पानी, सड़क और अधोसंरचना निर्माण जैसे बुनियादी क्षेत्रों का रोडमेप पहले ही तैयार है और इन क्षेत्रों में अच्छी प्रगति हुई है। कृषि क्षेत्र में अब उत्पादन की चुनौती लगभग खत्म हो गई है। अब उत्पादन की गुणवत्ता, खाद्य प्र-संस्करण, निर्यात और दोगुना आय बढ़ाने जैसे विषयों पर ध्यान देना होगा।