nav Pradesh logo

पर्चा बम पार्ट 2-गुमनाम पंपलेट से कांग्रेसियों में हड़कंप, पूर्व केंद्रीय मंत्री चरणदास पर गंभीर आरोप 

Date : 07-Aug-18

News image
News image
News image
News image
News image
News image
<

बैकुन्ठपुर/ कोरिया (नवप्रदेश)। छत्तीसगढ़ में आगामी नवंबर माह में संभावित विधानसभा चुनाव के लिए अब मात्र 3 महीने का समय शेष रह गया है और सभी राजनैतिक दल पूरी तरह से चुनावी मोड पर आ गए हैं। प्रदेश में भाजपा विकास के बलबूते चौथी बार सरकार बनाने की तैयारी में है और उसने मोबाइल वितरण कर एक तरह से ब्रम्हास्त्र खेल दिया है तो वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस भी इस बार आक्रामक नजर आ रही है चुनावी तैयारी के  लिहाज से विधानसभा चुनाव लडऩे की इच्छा रखने वाले दावेदारों से वर्तमान में ब्लॉक अध्यक्ष के पास आवेदन जमा कराया जा रहा है। कांग्रेस की ओर से लगातार यह संकेत मिल रहे हैं कि इस बार अगस्त अंत या सितंबर मध्य तक टिकट की घोषणा भी कर दी जायेगी ऐसे में दावेदार सक्रिय भी हो गए हैं। कांग्रेस की इस तैयारी के बीच जिले में एक बार फिर पर्चा बम फुट चुका है हालांकि पर्चे की भाषा देखकर यह कयास लगाए जा रहे हैं कि यह किसी कांग्रेस से जुड़े व्यक्ति का ही काम है जो कि कांग्रेस नेताओं खासकर कि पूर्व सांसद डॉ.चरणदास महंत से असन्तुष्ट है,क्योंकि इस पर्चे में सिर्फ महंत को ही फोकस किया गया है और उन्हें कोरिया से वापस जाने की मांग की जा रही है। यह पर्चा इन दिनों जिले के भरतपुर सोनहत विधानसभा क्षेत्र  के कुछ ग्रामो में चस्पा किये जाने की जानकारी मिल रही है और पर्चे ने सोशल मीडिया में भी जोर पकड़ लिया है। 

सर्वप्रथम नवप्रदेश दैनिक अखबार के कोरिया ब्यूरो अजीत पाटकर  को मिले इस पर्चे में साफ साफ सबसे पहले चरणदास महंत वापस जाओ,वापस जाओ लिखा गया है ,आगे लिखा है कि कोरिया कुमार की अंतिम इच्छा टी एस बाबा करें कोरिया की रक्षा मतलब इससे साफ जाहिर है कि यह पर्चा नेता प्रतिपक्ष टी एस सिंहदेव समर्थित व्यक्ति द्वारा ही बनाया गया है।

 पर्चे में आगे पूर्व सांसद डॉ.चरणदास महंत पर निशाना लगाते हुए कहा गया है कि उनके कोरिया में रहने पर लगातार हार मिल रही है, उन्हें अब जनता के साथ साथ कार्यकर्ता भी नही पसंद कर रहे हैं। जबकि कार्यकर्ता टी एस बाबा,भूपेश बघेल और प्रदेश प्रभारी पी एल पुनिया से लगातार मांग कर रहे हैं कि चरणदास महंत को कोरिया जिला से हटाएं। इसके अलावा पर्चे में कई मुद्दों पर महंत पर सीधा आरोप लगाते हुए कोरिया से हटाने की बात कही गई ह।ै और कोरिया में कांग्रेस के बिखराव के लिए भी महंत को जिम्मेदार बताया गया है यह कहा गया है कि चरणदास महंत की नीति से स्व.कुमार साहब(डॉ.रामचंद्र सिंहदेव) भी खुश नही थे और उन्होंने मंच से भी नाराजगी व्यक्त की थी। पर्चे की बात को दिल्ली तक( कांग्रेस सुप्रीमो) ले जाने का भी जिक्र किया गया है। 

पर्चे के अंत मे और भी दिलचस्प मुद्दा लिखा गया है जिसमें आरटीआई लगाने वाले एक बहुचर्चित नेता पर निशाना साधा गया है। उक्त कांग्रेस नेता के बारे में यह लिखा गया है कि एक नेता जो सूचना का अधिकार लगाकर कांग्रेस पार्टी की छवि धूमिल कर रहा है इससे पार्टी,अधिकारी, कर्मचारी, व्यापारियों एवं जनता में आक्रोश है। यहां यह बताना लाजमी है कि आरटीआई लगाने के लिये जिले में एक कांग्रेसी नेता  ज्यादा ही चर्चित हैं हर सरकारी दफ्तरों में सूचना के अधिकार माध्यम से उपस्थिति बनी हुई है जिससे कांग्रेस की छवि पर निश्चित रूप से असर पड़ा है। इसलिए यह पत्र उन कांग्रेस नेता के विरोधी द्वारा भी लिखे जाने के चर्चे हैं।

पर्चे के अंत मे अपील किया गया है कि कुमार साहब की आत्मा की शांति के लिए बदलो कोरिया से चरणदास महंत का प्रभार,14 साल से कांग्रेस बदहाल बदलो चरणदास महंत का प्रभार और कोरिया कांग्रेस का अंत करेंगे चरणदास महंत। पर्चे में पत्रकारो से भी समाचार लगाने का आग्रह किया गया है।

बहरहाल यह पर्चा सामने के बाद एक बार फिर कांग्रेस की लड़ाई सामने आती दिख रही है लोग इस पर्चे को आगामी चुनाव से जोड़कर देख रहे हैं तो यह पर्चा प्रदेश के नेताओ तक भी पहुँच जाने की जानकारी मिल रही है। कुल मिलाकर इस पर्चे से कांग्रेस को नुकसान उठाना पड़ सकता है।