nav Pradesh logo

मुखड़ा क्या देखे दर्पण में

अभी से सिरफुटौव्वल -2

अभी से सिरफुटौव्वल -2

अभी से सिरफुटौव्वल -2 (कल का शेष ) दावेदार ने कहा, मैंने सुना है कि मंत्री को कि कोई खास योग्यताएं नहीं होती।  अंगूठा छाप शिक्षा मंत्री बन जाता है।  जिसे कानून की समझ नहीं होती, वह विधि मंत्री बन जाता है। और जो जीवन भर खेलों से दूर रहता...

Read More
अभी से सिरफुटौव्वल -1

अभी से सिरफुटौव्वल -1

गिरीश पंकज  चुनाव का समय अभी दूर था, लेकिन उस दल के हर व्यक्ति को मंत्री बनने की पड़ी थी. पाँच -दस  तो मुख्यमंत्री पद के दावेदार थे और लगभग सौ लोग  मंत्री बनने के लिए बेताब थे।  पार्टी का एक नेता भाषण दे रहा था, इस बार हम सब...

Read More
जनता है फुटबॉल, उसको लतिया रहे हैं राजनीति के लाल!

जनता है फुटबॉल, उसको लतिया रहे हैं राजनीति के लाल!

  गिरीश पंकज   बहुत पहले नेताजी जब राजनीति में नहीं आए थेए  तब उनका प्रिय खेल हुआ करता था फुटबॉलण् फुटबॉल को जब कभी लात मारा करते थेए तो बहुत खुश हुआ होते थे।  उनका भाव यही रहता था कि चलोए किसी को तो लतिया रहा हूं।  घर में...

Read More
संत जी के बिगड़ैल भक्त

संत जी के बिगड़ैल भक्त

 संत जी के बिगड़ैल भक्त  गिरीश पंकज संत जी ने जो-जो सिखाया, उनके चेले वही सब नहीं सीख सके, कमाल है। संत ने मूर्ति-पूजा का विरोध किया और उनके जाने के बाद उनके भक्तों ने सबसे पहले संत जी की ही मूर्ति बना डाली, फिर उन्हीं की मूर्ति के नीचे...

Read More
मत समझो तुम एक बला है सेल्फी लेना बड़ी  कला है-2 

मत समझो तुम एक बला है सेल्फी लेना बड़ी  कला...

गिरीश पंकज कल का शेष  मैंने पूछा मित्र, कुछ चित्रों में लोग प्रसन्न हो कर हाथ को आड़ा-तिरछा कर लेते हैं। मुँह  भी बिगाड़ लेते है।  क्या यह सत्य  है। मित्र ने परम् ज्ञानियों की तरह मुस्कराते हुए कहा, यह सही है मित्र। सेल्फी लेते वक्त यह भी ध्यान में...

Read More
मत समझो तुम एक बला है सेल्फी लेना बड़ी  कला है-1 कुछ लोगों के लिए 

मत समझो तुम एक बला है सेल्फी लेना बड़ी  कला...

मत समझो तुम एक बला है सेल्फी लेना बड़ी  कला है-1 कुछ लोगों के लिए  गिरीश पंकज भले ही बला हैए  लेकिन आजकल  सेल्फी लेना एक बड़ी कला है। जो इस कला में  माहिर होते है।  वे देर रात तक जागते है  और दिन भर पेल कर सोते है   बहुत बड़ी...

Read More
जादूगर अफसरों को प्रणाम

जादूगर अफसरों को प्रणाम

जादूगर अफसरों को प्रणाम अपने देश के कुछ लोगों या अफसरों का जीवन बड़ा ही जादुई या कहें कि मायावी किस्म का होता है।  इस कला को वे उस दिन से अर्जित कर लेते हैं, जब वे मनुष्य जीवन से छुट्टी प्राप्त कर के अफसर या अधिकारी हो जाते हैं।...

Read More