International

US में बोले PM मोदी, सर्जिकल स्ट्राइक के फैसले पर दुनिया ने सवाल नहीं उठाया

US में बोले PM मोदी, सर्जिकल स्ट्राइक के फैसले पर दुनिया ने सवाल नहीं उठाया

International
वाशिंगटन। भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तीन देशों के दौरे पर हैं। अपने दौरे के पहले पढ़ाव में प्रधानंत्री नरेन्द्र मोदी पुर्तगाल पहुंचे। उसके बाद बाद अमेरिका पहुंचे हैं। उनके अमेरिका दौरे के लाइव अपडेट्स- अमेरिका में पीएम मोदी का भारतीयों को संबोधन: -नई उर्जा नया उत्साह मुझे मिलता है। -अमेरिका के कार्यक्रम की गूंज दुनिया में सुनाई देती है। -परिवार से मिलने का आनंद महसूस कर रहा हूं। -मैं भरोसा दिलाता हूं कि सब अच्छा हो। -अमेरिका के लोग चाहते हैं कि भारत ऐसा बने। -आपके जैसा समर्थन रखने वाले लोग भारत में है। -भारत में लोगों को अनुकूल माहौल मिल रहा है। -भरोसा दिलाता हूं कि भारत तेज गति के साथ आगे बढ़ रहा है। -पिछले कुछ सालों से देश तेजी से आगे बढ़ रहा है। -इस सरकार पर भ्रष्टाचार का एक भी दाग नहीं। -शासन में ईमानदारी लाने की कोशिश की। -सरकार चलाने के तरीके में भी बदलाव आया। - ग
अमेरिका पहुंचे पीएम मोदी, हुआ भव्य स्वागत

अमेरिका पहुंचे पीएम मोदी, हुआ भव्य स्वागत

International
वॉशिंगटन। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पुर्तगाल की अपनी एक दिन यात्रा पूरी करने के बाद आज अमेरिका पहुंच गए हैं. अमेरिका पहुंचने पर भारतीय राजदूत नवतेज सरना और उनकी पत्नी ने पीएम मोदी का स्वागत किया. ज्वाइंट बेस पर भारतीय समुदाय के लोगों ने भव्य स्वागत किया और मोदी-मोदी और भारत माता की जय के नारे लाए. डोनाल्ड ट्रंप के राष्ट्रपति बनने के बाद पहली बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिका गए हैं. पीएम मोदी डोनाल्ड ट्रंप से पहली बार मुलाकात करेंगे. दोनों नेता रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा करने के लिए तैयार हैं. मोदी का तीन दिवसीय अमेरिकी दौरा आज से शुरू हुआ. मोदी ने अपनी अमेरिका यात्रा से पहले कहा था कि उन्हें विचारों का गहरायी से आदान प्रदान करने का इंतजार है. उन्होंने ट्वीट किया, 'मेरी अमेरिका यात्रा का उद्देश्य हमारे देशों के बीच संबंधों में प्रगाढ़ता लाना है. भारत और अमेरिका के बीच
जाधव के नए वीडियो पर भारत की पाक को फटकार, कहा- सच नहीं बदल सकता

जाधव के नए वीडियो पर भारत की पाक को फटकार, कहा- सच नहीं बदल सकता

International, National
इस्लामाबाद । 46 वर्षीय पूर्व नौसेना अधिकारी कुलभूषण जाधव ने पाकिस्तान में अपनी फांसी की सजा के खिलाफ दया याचिका दायर की है। पाकिस्तान सेना ने यह दावा करते हुए कहा कि भारतीय नौसेना के पूर्व अफसर जाधव ने पाकिस्तान सेना प्रमुख को दया याचिका भेजी है। पाकिस्तानी सेना की ओर से जारी बयान में दावा किया गया है कि जाधव ने जासूसी की बात मानी है और अपने कामों के लिए माफी मांगी है। सेना की ओर से यह भी बताया गया है कि जाधव के बयानों का एक और वीडियो भी जारी किया गया है। इसमें कथित तौर पर उनके आतंकी और जासूसी गतिविधियों में शामिल रहने की बात मानने का दावा भी किया गया है। भारत की पाकिस्तान को फटकार भारत ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए दया याचिका को संदिग्ध बताया। बयान में कहा कि पाकिस्तान की कार्रवाई में पारदॢशता नहीं है। जाधव को राजनयिक मदद नहीं मिल रही है। भारत सरकार ने एक बार फिर पाकिस्तान द्वारा जाधव प
बिना हाथ के पैदा हुई थी ये बच्ची, अब खुद करती है अपना सारा काम

बिना हाथ के पैदा हुई थी ये बच्ची, अब खुद करती है अपना सारा काम

International
नई दिल्ली। किसी भी परिवार में सबसे खुशी का पल वो होता है, जब उसके घर में एक नन्हा मेहमान का आगमन होता है। हालांकि, कई बार ऐसे बच्चे भी पैता होते हैं, जो शारीरिक रूप से पूरी तरह से स्वस्थ नहीं होते हैं। रूस में भी एक ऐसा ही मामला सामने आया था जब एलमिरा नुटजेन नामक महिला ने बिना हाथ वाली एक बच्ची को जन्म दिया। वैसिलीना नाम की यह बच्ची अपने परिवार पर बोझ नहीं बनी। वह अपना काम खुद करती है और उसकी मां को उस पर गर्व है। उसकी मां का कहना था कि मुझे उसे खाना भी नहीं खिलाना पड़ता है क्योंकि वो अपने पैर से खुद खाना खा लेती है। एलमिरा का यह भी कहना था कि शुरुआत में मुझे लगा कि वैसिलीना को अपनी जिंदगी के साथ काफी संघर्ष करना पड़ेगा, लेकिन उसका हौसला देखकर मैं खुद हैरान रह गई। जब वो पैर से खाना खाती है तो थोड़ी तकलीफ जरूर होती है। लेकिन उस दौरान भी वो काफी खुश रहती है। सोशल साइट्स पर भी लाखों लोगों ने
पेंटागन ने भारत को बताया अफगानिस्तान का सबसे भरोसेमंद सहयोगी

पेंटागन ने भारत को बताया अफगानिस्तान का सबसे भरोसेमंद सहयोगी

International
-पाकिस्तान के लिए बढ़ी परेशानी वॉशिंगटन ,21 जून (नवप्रदेश)। अमेरिकी रक्षा विभाग के मुख्यालय पेंटागन ने भारत को अफगानिस्तान का सबसे भरोसेमंद क्षेत्रीय सहयोगी बताया है। अमेरिकी कांग्रेस के सामने पेश की गई अपनी ताजा अफगान रिपोर्ट में पेंटागन ने यह बात कही है। अफगान मुद्दे पर ट्रंप प्रशासन की इस पहली रिपोर्ट में भारत को न केवल काफी तरजीह दी गई है, बल्कि अफगानिस्तान में उसकी भूमिका को काफी सराहा भी गया है। ट्रंप प्रशासन की यह रिपोर्ट पाकिस्तान के लिए किसी झटके से कम नहीं है। पाकिस्तान लंबे समय से अफगानिस्तान के अंदर भारत की सक्रियता का विरोध करता आया है। भारत और अफगानिस्तान की दोस्ती पर पाकिस्तान कई बार सार्वजनिक तौर पर आपत्ति जता चुका है। पाकिस्तान न केवल भारत को अफगानिस्तान से दूर रखना चाहता है, बल्कि अपनी भौगोलिक स्थिति के बहाने अफगानिस्तान से जुड़ी नीतियों में भी अपनी प्रासंगिकता बनाए
पाकिस्तान पर सख्त कार्यवाई के मूड में अमेरिका

पाकिस्तान पर सख्त कार्यवाई के मूड में अमेरिका

International
वाशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का एडमिनिस्ट्रेशन पाकिस्तान को लेकर अपने रुख में बदलाव करने की तैयारी में है. सूत्रों के मुताबिक ट्रंप एडमिनिस्ट्रेशन पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठनों पर कार्रवाई कर सकता है. कई तरीकों पर विचार कर रहा है डोनाल्ड एडमिनिस्ट्रेशन अमेरिका की मुख्य चिंता उन पाकिस्तानी आतंकवादी संगठनों को लेकर है जो कि अफगानिस्तान को निशाना बनाते हैं.ट्रंप एडमिनिस्ट्रेशन जिन तरीकों पर विचार कर रहा है, उनमें पाक स्थित आतंकी संगठनों पर ड्रोन्स हमले बढ़ाना, पाकिस्तान को दी जा रही आर्थिक फंडिंग को रोकना और एक सहयोगी देश के तौर पर इस्लामाबाद को दिए गए दर्जे को घटाने जैसे उपाय शामिल हैं. कुछ यूएस अधिकारियों को कामयाबी की उम्मीद कम हालांकि कुछ यूएस अधिकारी इन तरीकों की कामयाबी को लेकर बहुत ज्यादा उत्साहित नहीं है. उनका कहना है कि इससे पहले भी सालों से की जा रही कोशिशें नाकाम