Business

नंदन निलेकणि ने की प्रेस कांफ्रेंस

नंदन निलेकणि ने की प्रेस कांफ्रेंस

Business
नई दिल्ली । गुरुवार को देश की नंबर दो आईटी कंपनी इंफोसिस के एग्जिक्यूटिव चेयरमैन बनाए गए नंदन निलेकणि ने शुक्रवार को पहली प्रेस कांफ्रेंस की। कमान संभालने के बाद नंदन निलेकणि ने प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि वह कार्पोरेट गवर्नेंस के उच्च मानक तय करेंगे और इंफोसिस के नए सीईओ का एलान अक्टूबर तक कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि हमारा मुख्य ध्यान ग्लोबल चुनौतियों पर रहेगा। निलेकणि ने कहा कि वो इंफोसिस के भविष्य को लेकर उत्साहित हैं। उन्होंने यह भी कहा कि नारायण मूर्ति के कहने पर ही उन्होंने कंपनी का पद संभाला हैै। अपने लक्ष्यों को लेकर उन्होंने कहा, पहला लक्ष्य है स्थायित्व लाना और यह सुनिश्चित करना कि बोर्ड सदस्यों से लेकर निवेशक तक सभी एक साथ हों। दूसरा लक्ष्य यथाशीघ्र सीईओ की नियुक्ति की प्रक्रिया को शुरू करना है, जिसके लिए एक सर्च एजेंसी को भी चुना गया है। उन्होंने बोर्ड के लिए
दो लाख से कम का सोना खरीदने पर भी अनिवार्य हो सकता है पैन कार्ड

दो लाख से कम का सोना खरीदने पर भी अनिवार्य हो सकता है पैन कार्ड

Business, National
नई दिल्ली । सरकार को अगर रिजर्व बैंक की एक समिति की सिफारिश रास आयी तो सोने की हर खरीद-फरोख्त इलेक्ट्रॉनिक गोल्ड रजिस्ट्री में दर्ज की जाएगी। इसका मतलब है कि जब भी आप किसी ज्वैलर से सोना खरीदेंगे तो ऑनलाइन उसका हिसाब-किताब रखा जाएगा ताकि पता चल सके कि कहीं कोई व्यक्ति सोना खरीदकर काला धन तो जमा नहीं कर रहा है। सोने की खरीद भले ही कितनी भी राशि की हो लेकिन इसके लिए पैन कार्ड जरूरी हो सकता है। फिलहाल सिर्फ दो लाख रुपये के सोने की खरीद के लिए ही पैन नंबर जरूरी होता है। यह महत्वपूर्ण सिफारिश रिजर्व बैंक की एक समिति ने अपनी ड्राफ्ट रिपोर्ट में की है। समिति ने यह सिफारिश सोने के रूप में काला धन जमा करने की प्रवृत्ति पर नियंत्रण लगाने के इरादे से की है। आरबीआइ ने वित्तीय स्थिरता और विकास परिषद (एफएसडीसी) की उपसमिति की 26 अप्रैल 2016 को हुई चर्चा के बाद भारत में घरेलू वित्त के विभिन्न पहलुओं के अध
असंगठित क्षेत्र को कर्ज दें बैंक और नाबार्ड : जेटली

असंगठित क्षेत्र को कर्ज दें बैंक और नाबार्ड : जेटली

Business
नई दिल्ली । बैंक और नाबार्ड समेत सभी वित्तीय संस्थान ऐसे लोगों को कर्ज दें जो अब तक इससे वंचित रहे हैं। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इन संस्थानों से यह अपील की है। जेटली के मुताबिक इससे असंगठित क्षेत्र में रोजगार बढ़ाने में मदद मिलेगी। वित्त मंत्री मंगलवार को यहां राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) के एक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। जेटली ने कहा, 'यह तथ्य है कि असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले लोगों की संख्या संगठित के मुकाबले काफी अधिक है। लेकिन उन्हें कर्ज पाने में काफी परेशानी झेलनी पड़ती है। अगर बैंकों और वित्तीय संस्थानों के संसाधनों को कई योजनाओं के माध्यम से असंगठित क्षेत्र को ट्रांसफर किया जाता है तो इससे रोजगार के ज्यादा मौके पैदा होंगे। इस दौरान उन्होंने स्वयं सहायता समूहों (एसएचजी) के फायदे भी गिनाए। वित्त मंत्री ने कहा कि एसएचजी काफी तेजी से आगे आए हैं। इन समूहो
रिहायशी प्रॉपर्टी की किरायेदारी आय पर नहीं लगेगा जीएसटी

रिहायशी प्रॉपर्टी की किरायेदारी आय पर नहीं लगेगा जीएसटी

Business
नई दिल्ली। रिहायशी प्रॉपर्टी की किरायेदारी आय पर लागू नहीं होगा लेकिन वाणिज्यिक यानी कॉमर्शियल उद्देश्य की प्रॉपर्टी से होने वाली आय पर लगेगा बशर्ते इसकी वार्षिक किरायेदारी आय 20 लाख रुपये से ज्यादा हो। राजस्व सचिव हसमुख अढिया ने कहा है कि अगर कोई मकान दुकान या ऑफिस के उद्देश्य से किराये पर दिया जाता है तो तभी लगेगा अगर कुल आय 20 लाख रुपये से ज्यादा हो। मास्टर क्लास के दौरान अढिया ने कहा कि रिहायशी किरायेदारी आय से पूरी तरह मुक्त रहेगी। लेकिन यह मकान गैर आवासीय उद्देश्य से किराये पर उठाया जाता है तो वाणिज्यिक के तौर पर माना जाएगा और 20 लाख रुपये से ज्यादा आय होने पर टैक्स लगेगा। निर्धारित सीमा से ज्यादा किरायेदारी आय होने पर करदाताओं यानी प्रॉपर्टी मालिकों को नेटवर्क में पंजीकरण कराना होगा और टैक्स भरना होगा। एन के चीफ एक्जीक्यूटिव प्रकाश कुमार ने कहा कि पोर्टल पर अब तक एक्साइज, सर्विस टैक
बाजार में मंदी के बावजूद बिकते रहे कमल विहार के प्लॉट

बाजार में मंदी के बावजूद बिकते रहे कमल विहार के प्लॉट

Business, Chhattisgarh
 अप्रैल-मई - जून 2017 में 30 करोड़ के प्लॉट बिके -आरडीए ने अब तक 66.78 एकड़ के प्लॉट विक्रय किए रायपुर (नवप्रदेश)। नोटबंदी और जीएसटी के लागू होने की कवायद में बाजार में भले ही मंदी रही हो पर रायपुर विकास प्राधिकरण के कमल विहार योजना में प्लॉटों की बिक्री में कमी नहीं हुई. बिजनेस के प्लॉटों पर 30 प्रतिशत और आवासीय, शैक्षणिक और स्वास्थ्य उपयोग के प्लॉटों पर 10 प्रतिशत की छूट के दौरान तीन महीनों में लगभग 30 करोड़ रुपए के प्लॉटों की बिक्री हुई. प्राधिकरण के अध्यक्ष संजय श्रीवास्तव के अनुसार देश और प्रदेश के नागरिकों को रायपुर विकास प्राधिकरण पर काफी भरोसा है. इसी कारण बाजार के उतरा – चढ़ाव के बावजूद प्राधिकरण की योजना में विकसित प्लॉटों की बिक्री लगातार होती रही है. प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी एम.डी. कावरे के अनुसार प्राधिकरण 2012 से कमल विहार के प्लॉटों का विक्रय क
एयर इंडिया ने दिल्ली से वाशिंगटन डीसी के लिए उड़ान शुरू की

एयर इंडिया ने दिल्ली से वाशिंगटन डीसी के लिए उड़ान शुरू की

Business
नयी दिल्ली । सरकारी विमानन कंपनी एयर इंडिया ने आज नयी दिल्ली से वाशिंगटन डीसी के लिये अपनी पहली उड़ान शुरू की। यह अमेरिका में एयर इंडिया का पांचवां गंतव्य है। एयर इंडिया ने इस सेवा के लिए बोइंग 777-200 एलआर विमान तैनात किया गया है। विमान में कुल 238-सीटें हैं जिसमें प्रथम श्रेणी की आठ, बिजनेस श्रेणी की 35 और इकॉनमी श्रेणी की 195 सीटें हैं। अमेरिकी दूतावास के प्रभारी मैरीके लॉस कार्लसन और एयर इंडिया के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक अनिी लोहानी, एयर इंडिया के वाणिज्यिक निदेशक पंकज श्रीवास्तव एवं अन्य अधिकारियों की उपस्थिति में आज यहां इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे से इस विमान सेवा की शुरुआत की गयी। अमेरिका में भारत के राजदूत नवतेज सरना, लोहानी और श्रीवास्तव भी इस पहली उड़ान से अमेरिका रवाना हुए। एयर इंडिया के प्रवक्ता के अनुसार जुलाई माह में अमेरिका जाने वाले उड़ानों की करीब 90 प्रतिश
पैन कार्ड बनवाने जा रहे हैं तो अब चुकानी होगी ज्यादा फीस, टैन की फीस भी बढ़ी

पैन कार्ड बनवाने जा रहे हैं तो अब चुकानी होगी ज्यादा फीस, टैन की फीस भी बढ़ी

Business
नई दिल्ली । अगर आपने अपना पैन कार्ड अभी तक नहीं बनवाया है तो यह खबर आपके लिए है. साथ ही यदि आपने अपना टैन (TAN) नंबर भी लेना है तो यह खबर आपके लिए है. सरकार ने 1 जुलाई से जीएसटी (GST) लागू होने के बाद से इन दोनों के लिए अप्लाई करने पर अब तक लग रही फीस को बढ़ा दिया है. यदि आप पैन कार्ड के लिए अप्लाई करने जा रहे हैं तो अब आपको इसके लिए ज्यादा पैसे चुकाने होंगे. सीबीडीटी के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक, पैन पर लगने वाली फीस 107 रुपये हुआ करती थी जिसे 1 जुलाई 2017 से 110 रुपये कर दिया गया है. यानी, 3 रुपये की बढ़ोतरी की गई है. वहीं टैन के लिए अप्लाई करते समय अब तक आप 63 रुपये चुकाया करते थे लेकिन अब इसके लिए 65 रुपये चुकाने होंगे. दोनों ही के लिए जो बढ़ोतरी की गई है वह जीएसटी लागू होने के बाद की गई है और यह 1 जुलाई से लागू है. इसी के साथ आपको बता दें कि अब तक करीब 30 करोड़ पैन धारकों में
छोटे मोबाइल फोन रिटेलर्स की जीएसटी वाली मुश्किल हफ्ते भर की

छोटे मोबाइल फोन रिटेलर्स की जीएसटी वाली मुश्किल हफ्ते भर की

Business
नई दिल्ली (नवप्रदेश)। मोबाइल फोन रिटेल स्टोर्स ने जीएसटी से पहले अपने पास स्टॉक कम से कम रखा। दरअसल वे नए स्टॉक की प्राइसिंग को लेकर ज्यादा क्लीयर होना चाहते थे। उनके इस कदम से जुलाई के पहले एक दो हफ्ते में उनकी सेल्स पर दबाव रह सकता है। छोटे रिटेलर्स बिल इश्यू करने को लेकर उलझन में हैं जबकि कई स्टोर्स का सिस्टम अब तक अपडेट नहीं हो पाया है। हालांकि क्रोमा, रिलायंस डिजिटल और द मोबाइल स्टोर जैसे बड़े प्लेयर्स का कहना है कि उनके यहां जीएसटी ट्रांजिशन सहज रहा है। ज्यादातर रिटेलर्स बताते हैं कि इस वीकेंड पर कंज्यूमर सेल्स बहुत ही कम रही। कंज्यूमर्स खरीदारी करने से पहले थोड़ा इंतजार करने के मूड में नजर आ रहे हैं। एपल ने 1 जुलाई को अपने सभी मॉडल्स के दाम में 7.5 पर्सेंट तक की कमी की है। सैमसंग, शाओमी, ओपो, जियोनी, इंटेक्स और लावा पहले ही कह चुकी हैं कि वे जीएसटी लागू होने के बाद दाम में बदलाव नह
शीतल पेय के दाम बढाने पड़ेंगे, पानी के घटेंगे- कोका कोला

शीतल पेय के दाम बढाने पड़ेंगे, पानी के घटेंगे- कोका कोला

Business
नई दिल्ली (वार्ता)। शीतल पेय बनाने वाली प्रमुख कंपनी कोका कोला इंडिया ने वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) लागू होने पर अपने ठंडे पेय के दाम बढाने की घोषणा की है । कंपनी ने कहा है कि जीएसटी से उसके बोतल बंद पानी किनले के दाम में कमी आयेगी । कंपनी की तरफ से आज जारी बयान में कहा गया है कि जीएसटी में शीतल पेय को कर के सबसे ऊंचे स्लैब 40 प्रतिशत की श्रेणी में रखा गया है। इसकी बजह से इस उद्योग को जीएसटी लागू होने पर खासा झटका झेलना पड़ेगा। कर का स्लैब बढऩे से कंपनी के पास कीमत का कुछ बोझ ग्राहकों पर डालना जरूरी हो जायेगा । हालांकि कंपनी का यह प्रयास रहेगा कि वह कर की बजह से दाम में होने वाली बढ़ोत्तरी का अधिकांश भार स्वयं वहन करें। बोतल बंद पानी के दाम के संबंध में कंपनी ने अपने बॉटलिंग हिस्सेदारों से कहा है कि वह किनले ब्रांड का दाम कम करें। इसके अलावा हिस्सेदारों से सस्ता पानी बाजार में लाने के लिये
मेड इन इंडिया आईफोन भारत में बिक्री के लिए तैयार

मेड इन इंडिया आईफोन भारत में बिक्री के लिए तैयार

Business
नई दिल्ली , 23 जून (नवप्रदेश)। अमेरिकी की दिग्गज कंपनी एप्पल ने मेक इन इंडिया के तहत आईफोन एसई का निर्माण भारत में किया है। यह फोन बेंगलुरु के चुनिंदा स्टोर्स में बिक्री के लिए उपलब्ध कराया गया है। इसके 32 जीबी वेरिएंट की कीमत 27,200 रुपये है। वहीं, 128 जीबी की कीमत 37,200 रुपये है। आईफोन के बॉक्स पर लिखा गया है कैलिफोर्निया में डिजाइन किया गया है और भारत में असेंबल किया गया है। उम्मीद की जा रही है कि भारत में एप्पल का प्रोडक्शन 1 जुलाई को जीएसटी जारी होने के बाद ही तेजी से हो पाएगा। एप्पल की ग्लोबली मूल उपकरण निर्माता विस्ट्रॉन ने आईफोन एसई के हैंडसेट्स को शिप कर दिया है। सूत्रों की मानें तो ऑफलाइन रिटेल पार्टनर्स के पास भारत में असेंबल हुए आईफोन की कुछ ही यूनिट्स हैं। एप्पल कंपनी को शुरुआती प्रोडक्शन में फोन की यूनिट्स के बारे में सवाल पूछा गया है लेकिन फिलहाल कंपनी की तरफ से कोई जवाब नह