National

दो तरह के पटेल: कौन मोदी के साथ और कौन हार्दिक संग?

दो तरह के पटेल: कौन मोदी के साथ और कौन हार्दिक संग?

National
अहमदाबाद। गुजरात विधानसभा 2017 की चुनावी जंग अब अपने आखऱिी पड़ाव में पहुंच चुकी है. ऐसे हालात में गुजरात राज्य की राजनीति में एक सामाजिक और राजनीतिक लहर सी है. अब इस लहर की दिशा और दशा पाटीदारों पर दारोमदार रखती है, ऐसा कई राजनीतिक विशेषज्ञों का कहना है. आइए समझने की कोशिश करते हैं कि गुजरात विधानसभा चुनाव की दशा और दिशा पाटीदार क्यों तय करेंगे? गुजरात में तकरीबन 4 करोड़ 35 लाख मतदाताओं में 1 करोड़ से ज़्यादा मतदाता पटेल पाटीदार बिरादरी से हैं जो कि किसी राज्य के जाति या वर्ण आधारित मतदाताओं की 22-23त्न संख्या हुई.्र क्या है कड़वा और लेउवा पटेल? हालांकि, गुजरात में पाटीदार-पटेल समुदाय दो वर्णों में बंटा हुआ है. कड़वा पाटीदार पटेल और लेउवा पाटीदार पटेल. हार्दिक पटेल खुद कड़वा पटेल हैं और हाल के गुजरात के शासन में सत्तारुढ़ पटेल-पाटीदार नेताओं में कड़वा पटेल नेताओं की संख्या ज़्यादा है. पा
उत्तर गुजरात में 17 सीटें जीतने वाली कांग्रेस के खिलाफ इस बार पार्टी के ही 16 बागी मैदान में

उत्तर गुजरात में 17 सीटें जीतने वाली कांग्रेस के खिलाफ इस बार पार्टी के ही 16 बागी मैदान में

National
नई दिल्ली। इस बार के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के लिए भाजपा से कहीं ज्यादा उसके बागी सिरदर्द बने हुए हैं। ऐसे में कांग्रेस का मजबूत गढ़ रहे उत्तर गुजरात में बागी नेता पार्टी की जड़ खोदने में लगे हैं। राज्य का यह वो क्षेत्र है जहां मोदी लहर के बावजूद कांग्रेस जीत का परचम लहराती रही है। यहां से कांग्रेस के 16 बागियों ने चुनावी मैदान में उतरकर पार्टी के लिए सत्ता में वापसी की राह में रोड़ा बन गए हैं। उत्तर गुजरात में छह जिले आते हैं, इनमें गांधीनगर, बनासकांठा, साबरकांथा, अरवली, मेहसाना और पाटन है। इन जिलों में 32 विधानसभा सीटें है। पिछले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने 32 सीटों में से 17 सीटें और बीजेपी ने 15 सीटों पर जीत हासिल की थी लेकिन अब इसी उत्तर गुजरात में 16 बागी कांग्रेस के खिलाफ मैदान में हैं और उन्होंने पार्टी के अधिकारिक उम्मीदवार के खिलाफ अपना नामांकन वापस नहीं लिया है। इससे का
गुजरात तट के करीब पहुंचा ओखी तूफान

गुजरात तट के करीब पहुंचा ओखी तूफान

National
गांधीनगर/सूरत । दक्षिण भारत में व्यापक तबाही मचाने के बाद गुजरात की ओर बढ़ रहे समुद्री तूफान ओखी के चलते राज्य तंत्र ने इसके चलते किसी तरह के नुकसान की आशंका से निपटने के लिए व्यापक कदम उठाये हैं। ओखी के आज मध्यरात्रि तक सूरत जिले के आसपास गुजरात तट से टकराने की आशंका है हालांकि तब तक इसके कमजोर पड़ कर गहरे दबाव या सामान्य दबाव के क्षेत्र में तब्दील हो जाने की संभावना है और हवा की रफ्तार घट कर 60 से 65 किमी प्रति घंट रह जायेगी पर एहतियाती उपायो में कोई ढील नहीं दी जा रही है। सूरत के कलेक्टर महेन्द्र पटेल ने तटीय क्षेत्रों में सरकारी क्षेत्र की ओएनजीसी समेत तेल, गैस और रासायनिक क्षेत्र की 11 कंपनियों समेत अन्य को एहतियाती कदम उठाने के निर्देश दिये हैं। समझा जाता है कि इनमें से अधिकतर में 24 घंटे तक उत्पादन बंद रहेगा। 50 से अधित तटीय गांवों को अलर्ट कर दिया गया है। कुछ स्थानों से लोगों को
कुपोषण से निपटने के लिए युद्धस्तर पर तैयारी

कुपोषण से निपटने के लिए युद्धस्तर पर तैयारी

National
नई दिल्ली। देश में कुपोषण की विकराल समस्या के समाधान के लिए युद्ध स्तर पर तैयारी शुरू करते हुए सरकार ने जन आंदोलन शुरू करने और पोषण केंद्रों की स्?थापना का फैसला किया है जिससे बच्चों में ठिगनेपन, अल्?प पोषाहार, रक्?त की कमी तथा जन्?म के समय कम वजन की समस्याओं से निपटा जा सकेगा। संयुक्त राष्ट्र खाद्य एवं कृषि संगठन की वर्ष 2017 की रिपोर्ट के अनुसार भारत में कुपोषित लोगों की संख्या 19.07 करोड़ है। यह आंकड़ा दुनिया में सर्वाधिक है। देश में 15 से 49 वर्ष की 51.4 फीसदी महिलाओं में खून की कमी है। पांच वर्ष से कम उम्र के 38.4 फीसदी बच्चों की अपनी आयु के मुताबिक लंबाई कम है। इक्कीस फीसदी का वजन अत्यधिक कम है। दुनिया भर में 80 करोड़ लोग कुपोषण के शिकार है। सरकार ने कुपोषण से निपटने के लिए विभिन्न मंत्रालयों की कई योजनाओं और कार्यक्रमों में समन्वय के लिए राष्ट्रीय पोषण मिशन गठित करने की घोषणा की है
अयोध्या, आगरा समेत 14 मेयर सीटों पर बीजेपी का कब्जा

अयोध्या, आगरा समेत 14 मेयर सीटों पर बीजेपी का कब्जा

National
लखनऊ। उत्तर प्रदेश निकाय चुनाव में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का जादू कायम है. मेयर के 16 सीटों में से अध्योध्या और आगरा की मेयर सीटों समेत 14 सीटों पर बीजेपी ने कब्जा जमा लिया है जबकि 1 सीट बसपा के खाते में गई है जबकि मेरठ की मेयर सीट पर भी बसपा उम्मीदवार बढ़त बनाए हुए हैं. मिली जानकारी के मुताबिक, गोरखपुर के वॉर्ड नंबर 68 से बीजेपी उम्मीदवार माया त्रिपाठी चुनाव हार गई हैं. यहां से निर्दलीय उम्मीदवार नादिर ने जीत दर्ज की है. इस वॉर्ड में ही गोरखनाथ मंदिर स्थित है. वहीं कांग्रेस के गढ़ अमेठी में बीजेपी को सफलता मिली है. यहां नगर पंचायत चुनाव में बीजेपी प्रत्याशी को जीत मिली है. यूूूूपी निकाय चुनाव के नतीजे आने शुरू हो गए हैं. यूपी में 22, 26 और 29 नवंबर को वोटिंग हुई. इस चुनाव में 16 नगर निगम 198 नगर पालिका और 438 नगर पंचायत के लिए वोट डाले गए थे. यूपी निकाय चुनाव के नतीजों को मुख्यमंत्री
सोमनाथ विवाद: कांग्रेस को शक किसी अंदरूनी शख्स ने किया विवाद पैदा

सोमनाथ विवाद: कांग्रेस को शक किसी अंदरूनी शख्स ने किया विवाद पैदा

National
अहमदाबाद। सोमनाथ मंदिर में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के गैर-हिंदू रजिस्टर में नाम दर्ज किए जाने के पीछे कांग्रेस को किसी अंदरूनी शख्स के हाथ की आशंका लग रही है। पार्टी के नेता एक ऐसे व्यक्ति को इस विवाद के पीछे मान रहे हैं, जो बीजेपी में जाने के लिए बातचीत कर रहा है और राहुल का धर्म विवाद के जरिए बीजेपी के नेताओं की आंखों का तारा बनना चाहता है। सूत्रों के अनुसार इस विवाद का पूरा ठीकरा मीडिया कोऑर्डिनेटर मनोज त्यागी पर फोडऩा सही नहीं होगा। कहा जा रहा है कि गैर-हिंदू रजिस्टर में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल के साथ राहुल का नाम त्यागी ने ही लिखा था। सूत्रों ने बताया कि इस बात की पूरी संभावना है कि पार्टी के भीतर से ही किसी ने रजिस्टर में हस्ताक्षर को कथित रूप से लीक किया है। कांग्रेस के एक शीर्ष नेता ने कहा, 'हमें पता है कि यह (राहुल का नाम गैर-हिंदू रजिस्टर में दर्ज) क्यों किया ग
देश की जीडीपी में उछाल तिमाही में बढ़कर 6.3 फीसदी हुई

देश की जीडीपी में उछाल तिमाही में बढ़कर 6.3 फीसदी हुई

National
नई दिल्ली। भारत की त्रष्ठक्क ग्रोथ रेट दूसरी तिमाही (जुलाई-सितंबर) में 6.3 फीसदी रही है। गुरुवार को सरकार की ओर से जीडीपी ग्रोथ के डेटा जारी किए गए। इकनॉमिक ग्रोथ के ताजा आंकड़े देश के लिए अच्छी खबर है क्योंकि अप्रैल-जून तिमाही में ग्रोथ 5.7 पर्सेंट के साथ तीन साल में सबसे कम हो गई थी। यही नहीं, पिछली पांच तिमाही से ग्रोथ रेट में गिरावट भी देखी जा रही थी। इससे साफ है कि नोटबंदी और जीएसटी के असर से अर्थव्यवस्था में छाई सुस्ती खत्म हो गई है और अब उसमें तेजी देखी जा रही है। अर्थव्यवस्था के रफ्तार पकडऩे की पूरी उम्मीद जताई जा रही थी क्योंकि बिजनस बढऩे के संकेत मिल रहे थे। इससे पहले अधिकतर इंडिपेंडेंट इकनॉमिस्टों ने भी अनुमान लगाया था कि सितंबर तिमाही में ग्रॉस वैल्यू ऐडेड (त्रङ्क्र) में 6.3-6.5 पर्सेंट की बढ़ोतरी हो सकती है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक त्रङ्क्र पिछली तिमाही से बढ़कर इस बार 6.1 फ
देश की बेहतरी के लिए राजनीतिक कीमत चुकाने को तैयार हूं-मोदी

देश की बेहतरी के लिए राजनीतिक कीमत चुकाने को तैयार हूं-मोदी

National
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि बेहतर भारत के लिए उठाए गए कदमों की राजनीतिक कीमत चुकाने के लिए वह तैयार हैं. साथ ही उन्होंने जोर दे कर कहा कि कोई भी उन्हें इससे डिगा नहीं सकता है. यहां लोगों को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि उनकी सरकार के लिए भ्रष्टाचार मुक्त, नागरिक-केंद्रित और विकास हितैषी पारिस्थितिकी सबसे बड़ी प्राथमिकता है. नीतियों पर आधारित, तकनीक पर आधारित, पारदर्शिता पर आधारित एक ऐसी पारिस्थितिकी जिसमें गड़बड़ी होने की, लीकेज की, गुंजाइश कम से कम हो. उन्होंने कहा कि नोटबंदी के बाद देश के व्यवहार में बदलाव आया है. स्वतंत्रता के बाद पहली बार ऐसा हुआ है, जब भ्रष्टाचारियों को कालेधन का लेन-देन करने से पहले डर लग रहा है. उनमें पकड़े जाने का भय है. जो कालाधन पहले समानांतर अर्थव्यवस्था का आधार था, वो मुख्यधारा की अर्थव्यवस्था में आया है. एक न्?यूजपेपर समिट का उ
जिससे प्यार किया, उससे मिलने की आजादी चाहिए: हादिया

जिससे प्यार किया, उससे मिलने की आजादी चाहिए: हादिया

National
चेन्नै। बहुचर्चित 'लव जिहादÓ मामले से चर्चा के केंद्र में आईं केरल की लड़की हादिया ने कहा है कि वह उस इंसान के साथ रहने की स्वतंत्रता चाहती हैं, जिससे उन्होंने प्यार किया है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद अपने परिजनों के 'चंगुलÓ से आजाद हो कर तमिलनाडु के कॉलेज में पढ़ाई कर रहीं हादिया ने कहा कि उनके पास अपने शौहर शफीन जहां से मिलने की आजादी नहीं है। अखिला अशोकन से परिवर्तित होकर हादिया बनीं लड़की ने कहा, 'मैं उस इंसान के साथ रहना चाहती हूं, जिससे सबसे ज्यादा प्यार करती हूं। मैं कोर्ट के आदेश का इंतजार कर रही हूं ताकि यह देख सकूं कि क्या यह मेरे लिए दूसरी जेल तो नहीं होगा। मैंने अपनी मर्जी से इस्लाम धर्म अपनाया है। मैं वे अधिकार मांग रही हूं, जो हर नागरिक के पास है। इसका राजनीति और जाति से कुछ लेना-देना नहीं है। उन्होंने कहा, 'कॉलेज वापस जाकर खुश हूं। मैंने कोर्ट से आजादी मांगी। मैं अपने पति
गुजरात चुनाव में कांग्रेस को 100, भाजपा को केवल 70 से 75 सीटें मिलेंगी-हार्दिक

गुजरात चुनाव में कांग्रेस को 100, भाजपा को केवल 70 से 75 सीटें मिलेंगी-हार्दिक

National
अहमदाबाद। गुजरात में चरम पर पहुंच चुकी चुनावी सरगर्मी के बीच 'करो या मरोÓ जैसी स्थिति में दिख रहे पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति (पास) के नेता हार्दिक पटेल ने आज दावा किया कि कांग्रेस इस बार 22 साल से सत्ता में जमी भाजपा को पराजित कर देगी। उन्होंने दावा किया कि कांग्रेस 182 में से करीब 100 सीटें जीत कर सामान्य बहुमत के साथ सरकार बनायेगी। जबकि इस बार 150 से अधिक सीटें जीतने का दावा कर रही भाजपा मात्र 70 से 75 सीटों पर सिमट जायेगी। हार्दिक ने सत्तारूढ़ भाजपा के खिलाफ अपना हमला और तेज करते हुए पार्टी अध्यक्ष अमित शाह की तुलना आज खुलेआम जालियांवाला बाग कांड के खलनायक 'जनरल डायरÓ से कर डाली। कांग्रेस को समर्थन दे रहे हार्दिक ने यहां एक कार्यक्रम में कहा, 'मै अमित भाई शाह को एक अच्छे से नाम जनरल डायर से बुलाता हूं। ऐसा इसलिए क्योंकि उन्होंने 14 बच्चों को मार दिया (2015 में पाटीदार आरक्षण आंदोलन के