Sports

मो.आमिर को खेलना सबसे मुश्किल

मो.आमिर को खेलना सबसे मुश्किल

Sports
नई दिल्ली। दुनिया के बेहतरीन बल्लेबाज़ों में शुमार हो चुके भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा है कि पकिस्तान के तेज़ गेंदबाज़ मोहम्मद आमिर उनके लिये अब तक के सबसे चुनौतीपूर्ण गेंदबाज़ रहे हैं। भारतीय टीम को नंबर वन तक ले जाने वाले विराट ने टेस्ट और वनडे सभी प्रारूपों में न सिर्फ कमाल का खेल दिखाया है बल्कि पिछले कुछ वर्षों में कई कीर्तिमान भी अपने नाम किये हैं। किसी भी विदेशी टीम के लिये विराट सबसे बड़ी चुनौती बन गये हैं। लेकिन जब विराट से यह पूछा गया कि उनके लिये किस गेंदबाज़ का सामना करना सबसे मुश्किल है तो उन्होंने साफतौर पाकिस्तानी गेंदबाज आमिर को चुना। स्पॉट फिक्सिंग में निलंबन के बाद पाकिस्तान की राष्ट्रीय टीम में फिर से वापसी करने वाले मोहम्मद आमिर भी कई बार भारतीय खिलाड़ी विराट की प्रशंसा कर चुके हैं। यहां तक की खुद विराट ने भी आमिर की वापसी पर उनसे बातचीत कर समर्थन जताया था। भारतीय
भारतीय फुटबाल की तस्वीर बदलेगा फीफा विश्वकप

भारतीय फुटबाल की तस्वीर बदलेगा फीफा विश्वकप

Sports
नई दिल्ली। भारतीय फुटबाल के लिये छह अक्टूबर का दिन ऐतिहासिक होगा जब देश पहली बार किसी भी वर्ग में फीफा मंच पर अपनी उपस्थिति दर्ज कराने के लिये उतरेगा जहां से इस खेल को एक नयी दिशा और दशा हासिल होगी। दुनिया के दूसरे सबसे बड़े देश भारत के लोगों की ढेरों उम्मीदों और आकांक्षाओं के साथ भारत की अंडर-17 फुटबाल टीम फीफा विश्वकप में खेलने उतरेगी। भारत की मेजबानी में पहली बार हो रहे फीफा अंडर-17 विश्वकप का आगाज़ छह अक्टूबर से होने जा रहा है जहां मेज़बान की हैसियत से भारतीय टीम को टूर्नामेंट में प्रवेश मिला है। हालांकि टीम पूरी तैयारी और कड़े अभ्यास के बाद विश्वकप में उतर रही है जहां दुनिया की 24 दिग्गज टीमें खिताब के लिये अपनी दावेदारी पेश कर रही हैं। भारत इस टूर्नामेंट में निश्चित ही खिताब के दावेदार या मजबूत टीम के तौर पर शामिल नहीं है लेकिन 'ब्लू कब्सÓ के नाम से जाने जानी वाली अंडरडॉग भारतीय टी
नेहरा-कार्तिक की ट्वंटी 20 टीम में वापसी

नेहरा-कार्तिक की ट्वंटी 20 टीम में वापसी

Sports
नयी दिल्ली । अनुभवी तेज़ गेंदबाज़ आशीष नेहरा और विकेटकीपर बल्लेबाज़ दिनेश कार्तिक की सात अक्टूबर से आस्ट्रेलिया के खिलाफ शुरू होने जा रही तीन मैचों की ट्वंटी 20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट सीरीज़ के लिये भारतीय टीम में वापसी हुई है। 38 वर्षीय नेहरा की ट्वंटी 20 सीरीज़ के लिये राष्ट्रीय टीम में लंबे समय बाद वापसी काफी हैरान करने वाली भी है। वहीं एक अन्य खिलाड़ी कार्तिक भी लंबे अर्से बाद टीम में जगह बना रहे हैं। इसके अलावा अपनी पत्नी की बीमारी के कारण रविवार को ही संपन्न हुई वनडे सीरीज़ से बाहर रहे सलामी बल्लेबाज़ शिखर धवन भी वापसी कर रहे हैं। नेहरा ने आखिरी बार भारतीय टीम की ओर से फरवरी में अंतरराष्ट्रीय मैच खेला था। वह ट्वंटी 20 प्रारूप में ही इंग्लैंड के खिलाफ टीम का हिस्सा रहे थे। लेकिन फिर वेस्टइंडीज और श्रीलंका के खिलाफ टीम से बाहर रहे थे। वहीं कार्तिक राष्ट्रीय टीम की ओर से आखिरी बार जुलाई
स्पिनरों के बचाव में उतरे विराट

स्पिनरों के बचाव में उतरे विराट

Sports
बेंगलुरू । भारतीय क्रिकेट टीम को उसके 'परफेक्ट 10Ó से रोकने वाली आस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम से चौथे वनडे में मिली हार के बाद कप्तान विराट कोहली ने टीम के स्पिनरों का बचाव किया है। लगातार नौ मैच जीतने के बाद टीम इंडिया अपनी 10वीं जीत से चूक गयी और बेंगलुरू में 21 रन से उसे मेहमान टीम ने पराजित किया। हालांकि पांच मैचों की सीरीज़ पर भारत पहले ही 3-1 से कब्जा कर चुका है। पिछले तीन मैचों में जीत में अहम भूमिका निभाने वाले गेंदबाज़ इस बार काफी महंगे साबित हुये और अक्षर पटेल, युजवेंद्र चहल, केदार जाधव ने काफी रन लुटाये। लक्ष्य का पीछा करते हुये भारतीय टीम के ओपनरों अजिंक्या रहाणे और रोहित शर्मा ने अच्छी शुरूआत दिलाई लेकिन भारत अपने अच्छे प्रयास के बावजूद जीत से मात्र 21 रन दूर 313 का स्कोर ही बना पाया। इस मैच में विराट ने अपने पिछले विजयी क्रम में तीन बदलाव भी किये थे और उमेश यादव, मोहम्मद शमी तथा
संगकारा ने प्रथम श्रेणी क्रिकेट को भी कहा अलविदा

संगकारा ने प्रथम श्रेणी क्रिकेट को भी कहा अलविदा

Sports
लंदन। श्रीलंका के पूर्व कप्तान कुमार संगकारा ने सरे के साथ शानदार इंग्लिश काउंटी सत्र के बाद प्रथम श्रेणी क्रिकेट को भी अलविदा कह दिया है। 39 वर्षीय बाएं हाथ के बल्लेबाज ने लंकाशायर के खिलाफ अपनी अंतिम प्रथम श्रेणी पारी में नाबाद 35 रन बनाये। उन्होंने अपना अभियान आठ शतकों और 106.50.के औसत से 1,491 रन के साथ समाप्त किया। संगकारा ने बीबीसी से कहा, "मुझे इसकी कमी काफी खलेगी लेकिन सही समय पर संन्यास लेना उचित होता है। काफी खिलाडी कड़वाहट और निराशा के साथ संन्यास लेते हैं लेकिन मैं बहुत कम अफ़सोस के साथ खेल को अलविदा कह रहा हूँ। मैं वाकई बहुत खुश हूं जिस तरह मैं खेला हूं और जो मैंने हासिल किया है। उन्होंने कहा, कई बार आप लम्बे समय तक अड़े रह जाते हैं लेकिन मेरा मानना है कि आपको सही समय पर सही फैसला कर लेना चाहिए।संगकारा ने 2015 में टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले लिया था। वह सर्वाधिक रन बनाने वालों
लय बनाए रखने पर भारत की नजऱ

लय बनाए रखने पर भारत की नजऱ

Sports
कोलकाता। भारतीय क्रिकेट टीम एक बार फिर बारिश की संभावनाओं के बीच यहां ईडन गार्डन मैदान पर मेहमान आस्ट्रेलियाई टीम के खिलाफ गुरूवार को अपने दूसरे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच में भी विजयी लय को बनाये रखने उतरेगी। विराट कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया ने डकवर्थ लुईस नियम से चेन्नई में पहला मैच 26 रन से जीता था। इस मैच में भी बारिश के कारण ओवरों की संख्या को कम करना पड़ा था और अब कोलकाता में भी पिछले कई दिनों से हो रही झमाझम बारिश ने मैच को लेकर संकट की स्थिति पैदा कर दी है। ईडन गार्डन की पिच को गीला होने से बचाने के लिये ग्राउंड स्टाफ लगातार यहां मैदान को कवर से ढके हुये है जबकि मौसम विभाग ने अगले कुछ दिनों में बारिश के इसी तरह जारी रहने की संभावना व्यक्त की है। हालांकि इन सब चिंताओं के बीच भारतीय टीम की कोशिश अपनी लय को इसी तरह बनाये रखने की है जबकि स्टीवन स्मिथ की कप्तानी में आस्ट्रेलियाई ट
सिंधू और समीर क्वार्टरफाइनल में

सिंधू और समीर क्वार्टरफाइनल में

Sports
सोल,। ओलंपिक और विश्व चैंपियनशिप की रजत विजेता पीवी सिंधू और समीर वर्मा ने गुरुवार को अपने अपने मुकाबले जीतकर कोरिया ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट के क्वार्टरफाइनल में प्रवेश कर लिया। विश्व चैंपियनशिप में रजत पदक जीतने के बाद अपना पहला टूर्नामेंट खेल रही सिंधू ने दूसरे दौर में थाईलैंड की निचोन जिंदापोल को 42 मिनट में 22-20, 21-17 से हराया। सिंधू ने इस जीत के साथ जिंदापोल के खिलाफ अपना करियर रिकॉर्ड 2-1 कर लिया है। विश्व रैंकिंग में चौथे नंबर की भारतीय खिलाड़ी को 16वीं रैंकिंग की थाई खिलाड़ी ने कड़ी चुनौती दी। सिंधू को पहला गेम जीतने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगाना पड़ा। सिंधू पहले गेम में 20-16 से आगे थी लेकिन जिंदापोल ने 20-20 से बराबरी कर ली। सिंधू ने लगातार दो अंक लेकर पहला गेम 22-20 से जीत लिया। दूसरे गेम में सिंधू ने 15-15 की बराबरी के बाद 18-15 की बढ़त बनाई और फिर 18-17 के स्कोर पर लगातार
वनडे में भी नंबर 1 बन सकती है टीम इंडिया

वनडे में भी नंबर 1 बन सकती है टीम इंडिया

Sports
नई दिल्ली। श्रीलंका में अपनी जीत के झंडे गाढऩे के बाद भारतीय टीम अब अपने ही देश में ऑस्ट्रेलिया टीम से भिड़ेगी। जल्द ही दोनों टीमों में कांटे की टक्कर देखने को मिलेगी। दोनों टीमों का लक्ष्य सिर्फ सीरीज जीतना ही नहीं ब्लकि वनडे क्रिकेट की नंबर 1 रैंकिंग को तक पहुंचना भी है। इस दोनों टीमों के पास वनडे क्रिकेट की नंबर 1 रैंकिंग में पहुंचने का खास मौका है। जी हां, बड़े अंतर 4-1 से सीरीज़ में जीत दोनों ही टीमों को नंबर 1 के पायदान तक पहुंचा सकती है फिलहाल दक्षिण अफ्रीका 119 अंकों के साथ नंबर 1 पर बना हुआ है। भारत और ऑस्ट्रेलिया दोनो ही टीमों के 117 अंक हैं। डेसिमल पॉइंट्स में अंक निकालने पर ऑस्ट्रेलियाई टीम भारत से आगे निकलती है। ऑस्ट्रेलिया टीम को टीम इंडिया के खिलाफ इस दौरे में 5 वनडे और 3 टी20 मैच खेलने हैं।
राष्ट्रीय टीम में जगह पक्की करने का लक्ष्य: मनीष

राष्ट्रीय टीम में जगह पक्की करने का लक्ष्य: मनीष

Sports
कोलंबो (नव प्रदेश)। भारतीय टीम के मध्यक्रम के बल्लेबाज़ मनीष पांडे ने श्रीलंका के खिलाफ चौथे वनडे में अर्धशतकीय पारी के बाद कहा है कि उनका ध्यान अब केवल राष्ट्रीय टीम में अपनी जगह पक्की करने पर लगा है। भारतीय टीम ने गुरूवार को चौथे वनडे में 168 रन से जीत दर्ज करने के बाद पांच मैचों की सीरीज़ में 4-0 की बढ़त बना ली है और वह टेस्ट सीरीज के बाद वनडे में भी क्लीन स्वीप करने से एक कदम दूर है। मैच के बाद पांडे ने संवाददाता सम्मेलन में कहा" मैं मध्यक्रम में बल्लेबाजी करता हूं जो चौथे से छठा क्रम है। उन्होंने कहा" मैंने टीम के लिये कई अलग अलग क्रम पर बल्लेबाजी की है। मैं किसी भी क्रम पर खेलने को तैयार हूं। मुझे पहले एक मौके की और फिर कुछ रनों की जरूरत है जिससे मैं टीम में अपनी जगह पक्की कर सकता हूं।" मनीष ने चौथे मैच में छठे नंबर पर खेलते हुये नाबाद 50 रन की महत्वपूर्ण अर्धशतकीय पारी खेली थी। मध्
बांग्लादेश और ऑस्ट्रेलिया के मैच में बने ये 10 रिकॉर्ड

बांग्लादेश और ऑस्ट्रेलिया के मैच में बने ये 10 रिकॉर्ड

Sports
ढाका। अपने टेस्ट इतिहास में पहली बार ऑस्ट्रेलिया को मात देने वाली बांग्लादेश की टीम इस समय सातवें आसमान पर है। ढाका टेस्ट मैच के चौथे दिन ही रोमांचक मुकाबले में बांग्लादेश ने 20 रनों से मैच जीत लिया। इस मैच के हीरो रहे दुनिया के नंबर एक ऑलराउंडर शाकिब अल हसन। हसन ने इस मैच में गेंद और बल्ले दोनों से ही कमाल दिखाया। शाकिब के लिए यह मैच इसलिए भी खास रहा, क्योंकि यह उनका 50वां टेस्ट मैच था। अपने शानदार खेल की बदौलत शाकिब ने इस मैच में 10 विकेट निकाले और 84 रनों की पारी भी खेली। इस नायाब प्रदर्शन के लिए उन्हें 'मैन ऑफ द मैचÓ के पुरस्कार से भी नवाजा गया। शाकिब के लिए उनका 50वां टेस्ट मैच इसलिए भी खास बन गया, क्योंकि यह उनकी टीम की कुल 10वीं टेस्ट जीत थी और इसमें उन्होंने ऑस्ट्रेलिया जैसी मजबूत टीम को पहली बार मात दी। 2 बार शाकिब ने अपने करियर में एक टेस्ट मैच में 80 से ज्यादा रन बनाने के साथ 1