Chhattisgarh

आठ साल चले संघर्ष के सामने अंतत: झुकना पड़ा सरकार को….

आठ साल चले संघर्ष के सामने अंतत: झुकना पड़ा सरकार को….

Chhattisgarh
टोल नाका आन्दोलन के प्रत्येक प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष सहयोगी का हृदय से आभार - कन्हैया.... लाठी खाई, जेल गए, जनता कफ्र्यू लगाया, सैकड़ों धरना-प्रदर्शन, ज्ञापन, दिल्ली में भी धरना, आमरण अनशन की घोषणा तक का सफर... रायपुर(नवप्रदेश)। सितंबर 2010 से शहर में टोल प्लाजा के खिलाफ प्रारंभ हुआ संघर्ष अंतत: सफल हुआ । आठ साल की इस संघर्ष गााथ में जनता की जीत हुई और सरकार को जनमत के आगे झुकना पड़ा । जनता की इस जीत में प्रिंट-इलेक्ट्रॉनिक मीडिया, कांग्रेस व्यापार प्रकोष्ठ, सुंदरनगर- चंगोराभाठा नागरिक संघर्ष समिति, महापौर, पार्षदों, शहर कांग्रेस कमेटी, चेम्बर ऑफ कॉमर्स, आम आदमी पार्टी, शिवसेना, समाजवादी पार्टी, सत्यमेव जयते फाउंडेशन, कम्यूनिस्ट पार्टी सहित प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष सहयोग करने वालों का विशेष योगदान है । प्रदेश कांग्रेस कमेटी व्यापार प्रकोष्ठ के अध्यक्ष कन्हैया अग्रवाल, नरेन्द्र ठाकुर, स
प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से लाभ दिलाने लगेगा कृषक चैपाल

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से लाभ दिलाने लगेगा कृषक चैपाल

Chhattisgarh
कलेक्टर ने किया प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की समीक्षा दुर्ग (नवप्रदेश)। जिले के किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ दिलाने के लिए सभी ग्राम पंचायतों में कृषक चैपाल लगाया जाएगा। इसके साथ ही दुर्ग, पाटन एवं धमधा विकासखण्ड में 5-5 स्थानों पर किसान सम्मेलन का आयोजन कर बीमा के फायदे बताया जाकर योजना का लाभ लेने के लिए कृषकों को प्रेरित किया जाएगा। जिले में रूट चार्ट निर्धारित कर विभिन्न ग्राम पंचायतों में केम्प का आयोजन का आयोजन किया जाएगा। कलेक्टर श्री उमेश कुमार अग्रवाल ने आज अधिकारियों की बैठक लेकर प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत किसानों को लाभ दिलाने हेतु विशेष कार्ययोजना निर्धारित करते हुए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए हैं। कलेक्टर ने कृषि, उद्यानिकी, पशुपालन, मत्स्य पालन, फसल बीमा कंपनी, सहकारी बैंक, नॉबार्ड के अधिकारियों की बैठक लेकर प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से अधिक से अ
जरूरतमंद बच्चों के लिए कोतवाली में शुरू हुई पुलिस की पाठशाला

जरूरतमंद बच्चों के लिए कोतवाली में शुरू हुई पुलिस की पाठशाला

Chhattisgarh
 एएसपी ने किया बीपीएम क्लास का शुभारंभ कोरबा (नवप्रदेश)। बालको पुलिस मंच (बीपीएम) द्वारा सिटी कोतवाली में क्षेत्र के जरूरतमंद बच्चों के लिए पाठशाला शुरू की गई है। पुलिस इस पाठशाला का औपचारिक शुभारंभ अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक तारकेश्वर पटेल, सीएसपी दर्री सुखनंदन राठौर के द्वारा मां सरस्वती के छायाचित्र के समक्ष दीप प्रज्जवलन व माल्यार्पण कर किया गया। एएसपी तारकेश्वर पटेल ने बीपीएम क्लास का शुभारंभ करते हुए इसे एक सराहनीय और अनुकरणीय पहल बताया। उन्होंने कहा कि अक्सर पुलिस के प्रति लोगों में नकारात्मक छवि का भाव रहता है जबकि पुलिस कर्मी भी इसी समाज का एक हिस्सा होते हैं, उनमें भी संवेदनाएं रहती हैं। बालको पुलिस मंच के द्वारा निर्धन और जरूरतमंद बच्चों के लिए जो पाठशाला बालको थाना के बाद कटघोरा में शुरू की गई, उसकी तीसरी इकाई कोरबा कोतवाली में भी शुरू होने जा रही है। यह न सिर
कवर्धा में सीएम का प्रवास हेलीपेड को चिन्हाकिंत करने की जिम्मेदारी बेटी के कंधों पर….

कवर्धा में सीएम का प्रवास हेलीपेड को चिन्हाकिंत करने की जिम्मेदारी बेटी के कंधों पर….

Chhattisgarh
जितेन्द्र नामदेव  कवर्धा (नवप्रदेश)। साहब, मैंने ब्रश थामा है, आपके लिए हेलीपेड बना पाउँ, और अपना पेट भर संकू। साहब मैं आपके सूबे की गरीब बिटिया हूं, आप मुझे नहीं जानते। मैंने ब्रश थामा है, ताकि आपके विमान के उतरने के लिए हेलीपेड का निशान बना सकूँ, और चार पैसे कमा सकूँ । उन चार पैसों से अपने माँ-बाप की आर्थिक मदद कर सकूं। कल जब आपका विमान भोरमदेव के हेलीपेड पर उतरेगा, तो उसके उतरने के पीछे मेरी भी भूमिका होगी। शायद मेरी यह भूमिका किसी को भी न नजऱ आए। मैं इस बात पर गर्व करूंगी, क्योंकि हेलीपेड पर मेरे द्वारा उकेरे निशान को देखकर प्रदेश के मुखिया का हेलीकॉप्टर उतरेगा। साहब, मेरी इतनी प्रार्थना है आपसे कि जब आप जगत के पालनहार के सामने प्रार्थना करें, तो यह भी मांग लें कि मुझ जैसी किसी बिटिया को गरीबी का सामना न करना पड़े ओर कहीं ऐसी स्थिति भी बन रही है तो आप उस बिटिया का सहारा बनें। श्रवणम
निरीक्षण के लिए अफसरों को फुर्सत नहीं, घटिया सरिया से पुल, तो डस्ट गिट्टी से बना रहे सड़क

निरीक्षण के लिए अफसरों को फुर्सत नहीं, घटिया सरिया से पुल, तो डस्ट गिट्टी से बना रहे सड़क

Chhattisgarh
 2 साल में नहीं बना सड़क व पुल कांकेर (नव प्रदेश)। मुख्यालय से महज 30 कि.मी की दूरी पर कोरर ग्राम पंचायत से तरांदुल हाटकर्रा राड़वाही सहित अंदरूनी इलाकों में लोनिवि के द्वारा करोड़ोंं की लागत से सड़क व पुल का निर्माण किया जा रहा है । निर्माण कार्य की धीमी गति व गुणवत्ताहीन निर्माण कार्य विगत दो वर्षों से चल रहा है । लेकिन समय सीमा के भीतर निर्माण कार्य को बिना पूर्ण किये व गुणवत्ताहीन निर्माण का कार्य आज पर्यन्त तक जारी है । जिसकी खबर हमने 01 मई को ''पुल में घटिया सरिया तो सड़क पर बिछा दी गिट्टी शीर्षक को बड़ी ही प्रमुखता से प्रकाशित किया था। 01 मई को खबर प्रकाशित होने के बाद व लोनिवि के ई.ई. के द्वारा घटिया निर्माण पर चुप्पी साध कर राज्य सरकार के करोड़ों की लागत से होने वाले निर्माण कार्य पर दो माह बाद भी स्थिति जस की तस बनी हुई है । यह बता दे कि कोरर से राड़वाही तक तकरीबन आध
चीफ जस्टिस ने किया केन्द्रीय जेल का निरीक्षण, बोले-बंदियों को मिले पेरोल का लाभ

चीफ जस्टिस ने किया केन्द्रीय जेल का निरीक्षण, बोले-बंदियों को मिले पेरोल का लाभ

Chhattisgarh
बिलासपुर (नवप्रदेश)। छ.ग. उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति टी. बी. राधाकृष्णन, न्यायमूर्ति प्रीतिंकर दिवाकर, न्यायाधीश, छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय एवं कार्यपालक अध्यक्ष, छत्तीसगढ़ राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा केन्द्रीय जेल, बिलासपुर का आकस्मिक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने विचाराधीन एवं सजायाफ्ता बंदियों के संबंध में जेल अधिकारियों से जानकारी ली तथा बैरकों का निरीक्षण किया। बंदियों से मुलाकात कर उनकी स्थिति की जानकारी प्राप्त की। बंदियों को पेरोल का लाभ प्राप्त न होने पर उन्होंने नाराजगी व्यक्त करते हुए इसका लाभ बंदियों को दिये जाने का निर्देश दिया। बंदियों के जमानत के संबंध में जानकारी ली तथा निर्देषिशत किया कि ऐसे बंदियों जिन्होंने पेरोल का लाभ प्राप्त नहीं किया है, उनको इसका लाभ दिलाया जाये। बंदियों की जमानत के संबंध में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण को निर्दे
सोते को पंचायत ने नहर का रूप दे डाला, अब हो रही 500 एकड़ में सिंचाई

सोते को पंचायत ने नहर का रूप दे डाला, अब हो रही 500 एकड़ में सिंचाई

Chhattisgarh
बीजापुर (नवप्रदेश)। उसूर ब्लॉक की नड़पल्ली पहाड़ी से निकले सोते को पंचायत ने नहर का रूप दे डाला और अब इससे करीब पांच सौ एकड़ में सिंचाई का साधन किसानों को मिल गया है। अब इस सोते का पानी बेकार नहीं जा रहा है बल्कि खेतों तक सीधे पहुंच रहा है। बाहरमासी इस सोते से नहर निकाले जाने से यहां गर्मी के दिनों में भी फसल लहलहाएगी। आवापल्ली से करीब बीस किमी दूर नड़पल्ली पहाड़ी से निकलने वाले सोते का इस्तेमाल लोग सालों से नहाने और पीने के लिए किया करते थे। यहां का पानी व्यर्थ चला जाता था क्योंकि इसे बचाने या सही इस्तेमाल करने के लिए कोई साधन नहीं था। अब नहर से दो किमी दूर पुट्टापल्ली गांव के किसानों को लाभ मिल रहा है। दो किमी तक नहंर का काम मनरेगा की राशि से किया गया है। इस प्रकल्प को पूरा करने में करीब 14 लाख रूपए लगे। बताया गया है कि इस पहाड़ी से और सात सोते निकलते हैं। इन्हें भी नहर के जरिए गांव तक ल
इस बार फिर डूबेगा कोंगनी का पुल, नहीं ले रहा है कोई सुध

इस बार फिर डूबेगा कोंगनी का पुल, नहीं ले रहा है कोई सुध

Chhattisgarh
बालोद (नव प्रदेश)। बालोद अर्जुंदा मार्ग स्थित कोंगंनी नाला का पुल लगभग दस सालो से उपेक्षित पड़ा है कई नेता मंत्री यहां आए लेकिन इस पुल की किसी ने भी सुध नहीं ली नतीजन हर साल ग्रामीणों को बारिश में परेशानी उठानी पड़ती है वही इस पुल के मरम्मत को लेकर न तो सिचाई विभाग गंभीर है और न हीं पीडब्ल्यूडी दोनों विभाग की निष्क्रियता का खामियाजा ग्रामीण भुगत रहे है कई बार मांग के बाद पिछले साल पीडब्ल्यूडी द्वारा पुल का दोनों ओर पिचिंग का कार्य कराया गया था उसमे भी संबंधित ठेकेदार ने बन्दरबाट कर दिया और आधा अधूरे क्षेत्र में पिचिंग करने के बाद काम बंद कर दिया इस गुणवत्ताहींन कार्य पर भी कोई कार्यवाही नहीं हुई और आज स्थिति ज्यो की त्यों हो गई पुल के साइड से पत्थर भी चोरी हो रहे है और पुल का दोनों हिस्सा दिनोंदिन खोखला होता जा रहा है ग्रामीण तेजेद्र साहू केशव साहू दिनेंद्र साहू ने बताया कि हर साल बरसात मे
प्रशासन की उदासीनता का दंश क्षेल रहे सूरनार के ग्रामीण….

प्रशासन की उदासीनता का दंश क्षेल रहे सूरनार के ग्रामीण….

Chhattisgarh
शासन ने मूंदी आंखे, कही लाल तो कही नाले का पी रहे पानी धीरेंद्र तिवारी नकुलनार (नवप्रदेश)। बस्तर में आदिम जीवन का अधिकांश हिस्सा बीहड़ इलाको में बसता है। जहाँ हमेशा से प्रशासन की पकड़ ढीली रही है। लोग यहां हर रोज जिंदगी की जंग लडऩे मजबूर है। लोगो की मूलभूत जरूरतें भी भगवान भरोसे है। दक्षिण बस्तर दन्तेवाड़ा के बीहड़ इलाको में हालात बद से बदतर है। जहां प्रजातंत्र की बजाय गनतंत्र की सरकार चलती है। इसकी बानगी कटेकल्याण ब्लाक के सूरनार पंचायत में देखने को मिलता है। यहां हालात इस कदर बदहाल है कि पीने के लिए साफ पानी तक नसीब नही होता है। लालआतँक के ख़ौफ़ ने यहाँ विकास को रोककर रखा है। और सरकार भी यहां पूरी तरह शून्य नजर आती है। मंजर ऐसा कि देखने वालों को लज्जा आ जाये। पानी के लिए संघर्ष करना बन गई है आदत सूरनार के पटेलपारा और हापूपारा में लोग हर रोज पानी के लिए संघर्ष करते देखे जा स
आकाशवाणी से रमन के गोठ की 23वीं कड़ी, छत्तीसगढ़ में बीस जुलाई को प्रदेशव्यापी वृक्षारोपण समारोह

आकाशवाणी से रमन के गोठ की 23वीं कड़ी, छत्तीसगढ़ में बीस जुलाई को प्रदेशव्यापी वृक्षारोपण समारोह

Chhattisgarh
० मुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों से की शामिल होने की अपील ० इस बार खरीफ में 48 लाख हेक्टेयर में बोनी का लक्ष्य रायपुर (नवप्रदेश)। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने प्रदेशवासियों से इस महीने की 20 तारीख को हरियर छत्तीसगढ़ अभियान के तहत राज्य में आयोजित होने वाले वृक्षारोपण समारोहों में अधिक से अधिक संख्या में शामिल होने की अपील की है। मुख्यमंत्री आज सवेरे आकाशवाणी के रायपुर केन्द्र से प्रसारित अपनी मासिक रेडियो वार्ता रमन के गोठ की 23वीं कड़ी में जनता को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि इस त्यौहार को हम सब मिल-जुलकर मनाएंगे। इस वर्ष राज्य में आठ करोड़ पौधे लगाने का लक्ष्य है, जिसे पूरा करने के लिए 20 जुलाई से विशेष अभियान की शुरूआत होगी। लक्ष्य पूर्ति का संकल्प हम सब लेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा-20 जुलाई को छत्तीसगढ़ के सभी जिलों, तहसीलों, विकासखण्डों और पंचायतों में त्यौहार के र