लाल आतंक पर भारी रहा साल 2017

Sharing it

सुकमा। साल 2017 जहां एक ओर नक्सलियों के सरेंडर का साल रहा वहीं, दूसरी ओर इस दौरान नक्लसलियों ने कई वारदातों को अंजाम दिया। इस साल नक्ललियों ने बुरकापाल और भेज्जी में घात लगाकर हमले किए। दूसरी ओर सुरक्षाबलों द्वारा चलाए जा रहे ऑपरेशन और सरकार की रणनीति की वजह से नक्सलियों के सरेंडर में तेजी आई है। पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक इस साल नक्सलियों पर दबाव बनाने की रणनीति काफी हद तक कामियाब रही, क्योंकि इलाके में हाईवे का निर्माण लगभग पूरा होने की कगार में है और इसके अलावा दोरनापाल और जगरगुंडा मार्ग पर भी तेजी से काम चल रहा है।
नक्सलियों पर भारी सुरक्षाबल
साल 2017 में नक्सलियों की ओर से की गई दो बड़ी वारदातों को छोड़ दें तो इस साल सुरक्षाबल नक्सलियों पर भारी पड़े हैं। इस साल 151 नक्सली घटनाएं और 57 मुठभेड़ हुईं जिसमें 44 जवान शहीद हुए और 15 नक्सली मारे गए वहीं इन घटनाओं में 15 आम नागरिकों ने भी अपनी जान गंवाई।
452 नक्सली हुए गिरफ्तार
नक्सलियों ने सुरक्षाबलों से करीब 35 हथियार लूटे तो वहीं सुरक्षाबल के जवानों ने नक्सलियों से 25 हथियार बरामद किए। नक्सलियों ने जहां एक ओर 22 ढ्ढश्वष्ठ ब्लास्ट को अंजाम दिया। वहीं, सुरक्षाबलों को नक्सलियों की ओर से लगाई गई 105 ढ्ढश्वष्ठ बरामद कर उसे डिफ्यूज करने में सफलता मिली। 2017 में 452 नक्सलियों को गिरफ्तार किया।
नक्सलियों की ओर से किए गए बड़े हमले
24 अप्रैल 2017 – नक्सलियों ने एंबुश लगाकर सुरक्षा बलों पर हमला किया था। जिसमें 25 जवान शहीद हुए थे। घटना के बाद नक्सली सुरक्षाबलों के हथियार लूटकर फरार हो गए थे।
11 मार्च 2017 – नक्सलियों ने सुकमा के भेज्जी में सड़क निर्माण में लगे कर्मचारियों को सुरक्षा दे रहे जवानों को निशाना बनाकर आईडी ब्लास्ट किया था, जिसमें सुरक्षाबल के 11 जवान शहीद हुए थे।
दुर्गम इलाकों में नक्सली हुए कमजोर
सुरक्षाबलों की तरफ से नक्सलियों के खिलाफ इस साल कई बड़े ऑपरेशन किए गए। जिसमें से ऑपरेशन प्रहार प्रमुख है। ऑपरेशन प्रहार के तहत सुरक्षाबल पहली बार नक्सलियों की पैठ वाले इलाके तोंडेमरका में दाखिल हुए और वहां ऑपरेशन को अंजाम दिया।
और तेज होगा ऑपरेशन
नक्सल ऑपरेशन एसपी जितेंद्र शुक्ला ने बताया कि पिछले साल की अपेक्षा आने वाले समय में नक्सलियों के खिलाफ लड़ाई और भी आक्रामक तरीके से लड़ी जाएगी। हम नक्सलियों के इलाके का चयन कर उसमें घुसेंगे और उनके खिलाफ ऑपरेशन को अंजाम देंगे।

Sharing it

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *