अपनी वापसी के लिए लेग स्पिन सीख रहे हैं अश्विन

Sharing it

चेन्नै। चैंपियंस ट्रोफी के बाद से टीम इंडिया में सीमित ओवरों की क्रिकेट में शानदार परफॉर्म कर रहे युवा स्पिन गेंदबाज युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव भले ही यह मान रहे हों कि टीम इंडिया में उनकी जगह अब पक्की हो गई है, लेकिन जल्दी ही उन्हें अपने सीनियर पार्टनर रविचंद्रन अश्विन से एक बार फिर चुनौती मिलने वाली है। लिमिटेड ओवर्स क्रिकेट में वापसी के लिए बेरकरार अश्विन अपनी बोलिंग में नई विविधता लाने के लिए लेग स्पिन सीख रहे हैं। अश्विन इसके लिए जमकर अभ्यास कर रहे हैं।
अपनी बोलिंग में यह नई विविधता जोड़ रहे अश्विन लेग स्पिन का ऐक्शन टीम इंडिया के पूर्व कोच अनील कुंबले की सलाह पर डिवेलप कर रहे हैं। इतना ही नहीं अश्विन इस नए प्रयोग में साउथ अफ्रीका दौरे से पहले ही महारत हासिल करने को भी आतुर हैं। गुरुवार को एम. ए. चिदंबरम स्टेडियम में ग्रैंड स्लैम के खिलाफ खेले गए ङ्क्रक्क ट्रोफी मैच में अश्विन ने ज्यादातर बोलिंग लेग-स्पिन ही की। इस मैच में अश्विन ने 10 ओवर फेंककर 47 रन दिए और उन्हें 2 विकेट मिले। इस मैच में अश्विन ने जो 6 ओवर लेग स्पिन बोलिंग के किए उन्हीं में उन्हें ये 2 विकेट हासिल हुए। लेग स्पिन करते हुए उन्होंने विरोधी टीम के टॉप 2 बल्लेबाजों के सामने बॉल की लाइन और लेंथ पर शानदार नियंत्रण बनाए रखा। 31 वर्षीय अश्विन से जुड़े एक करीबी सूत्र ने बताया कि वह पिछले 4 महीने से लेग-स्पिन बोलिंग का अभ्यास कर रहे हैं। रणजी क्रिकेट में उनके कुछ साथी खिलाडिय़ों की मानें, तो अब नेट्स में लेग स्पिन करते हुए अश्विन की कलाई का जादू दिखने लगा है। वह नेट्स में शानदार लेग स्पिन बोलिंग करा रहे हैं। गुरुवार को खेले गए इस मैच में अश्विन ने पहले 3 ओवर ऑफ स्पिन बोलिंग करने के बाद वह लेग स्पिन मोड में आ गए। वह लेग स्पिन बोलिंग के दौरान शानदार ढंग से पिच से उछाल, टर्न और तेजी तीनों का सटीक मिश्रण दिखा रहे थे।

Sharing it

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *