दो बेरोजगार युवक संभाल रहे प्राथमिक शाला की पढ़ाई

Sharing it

देवभोग. (नव प्रदेश)
स्कूलों में पढ़ाई व्यवस्था की स्थिति देखने पहुंचे बीईओ ने सबसे पहले प्राथमिक शाला मुंगझर का दौरा किया। इस दौरान प्राथमिक शाला में पढ़ा रहे दो युवकों से बीईओ ने जानकारी ली। इस पर दोनों युवकों ने बताया कि वे पढ़े-लिखे है। वहीं समय खाली जा रहा था। ऐसे में सोचा कि गांव का स्कूल बंद ना हो जाए। इसी स्थिति को देखते हुए शिक्षकों के हड़ताल में जाने के बाद से वे दोनों ही पढ़ाई व्यवस्था संपन्न करवा रहे है। वहीं ग्रामीणों ने भी बीईओ को बताया कि दोनों युवक खगपति कश्यप और तोषन कश्यप पढ़ाई को लेकर पूरी तरह से गंभीर है। दोनों ने पिछले नौ दिनों से हड़ताल में जाने के बाद से कमान संभाला है। वहीं पूरा कालखंड पढ़ाने के बाद बच्चों को छुट्टी देते हैं। वहीं दोनों युवकों को पढ़ाते देख बीईओ प्रदीप शर्मा ने दोनों की पीठ थपथपाते हुए कहा कि निश्चित तौर पर गांव के दो युवा जिस तरह से स्कूल का संचालन कर रहे है,वह तारीफ योग्य है। उन्होंने कहा कि गांव के दो युवा ने अपने कर्तव्यों को समझा और उसका पालन किया। उन्होंने दोनों युवाओं को अनुभवन प्रमाण पत्र देने की बात भी कही। वहीं इसके बाद बीईओ ने बुध्दुपारा,सरगीगुड़ा,टेमरा,गंगराजपुर के स्कूलों का दौरा कर पढ़ाई के साथ-साथ मध्यान्ह भोजन की भी जानकारी ली।
इधर भाजपा कार्यकर्ताओं ने ली पढ़ाई की जिम्मेदारी-: वहीं स्कूलों में शिक्षकों के नहीं पहुंचने से पढ़ाई प्रभावित होते देख भाजपा के कार्यकर्ताओं ने भी स्कूलों में जाकर पढ़ाई करवाना शुरू कर दिया है। इसी क्रम में माड़ागांव के प्राथमिक शाला में भाजपा की महिला मोर्चा की जिला महामंत्री शीतला पांडे ने कक्षा लेकर बच्चों को हिन्दी,गणित के साथ ही अन्य विषयों की पढ़ाई करवाई। उन्होंने कहा कि बच्चों की पढ़ाई प्रभावित होता देख उन्हें अच्छा नहीं लगा। जिसके बाद उन्होंने निर्णय लिया कि वे अब स्कूलों में जाकर पढ़ाई संपन्न करवाएंगी। वहीं इसी तरह अन्य स्कूलों में भी बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने जाकर बच्चों को पढ़ाया। आपको बताते चले कि शिक्षकों के हड़ताल में चले जाने के बाद ब्लाक के कई स्कूलों की शिक्षा व्यवस्था पुरी तरह से प्रभावित हो गई थी।
आज स्कूलों का दौरा किया। इसके बाद पढ़ाई व्यवस्था के साथ-साथ मध्यान्ह भोजन की भी व्यवस्था देखी। सभी जगह पढ़ाई सुचारू रूप से संचालित हो रही है।
प्रदीप शर्मा
बीईओ,देवभोग

Sharing it

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *