जिम्बाब्वे में तख्तापलट, राष्ट्रपति रॉबर्ट मुगाबे और पत्नी सेना की कस्टडी में

Sharing it

हरारे। जिम्बाब्वे की सेना ने देश को अपने नियंत्रण में ले लिया है लेकिन राष्ट्रपति राबर्ट मुगाबे सुरक्षित बताये गये हैं। बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक सेना ने श्री मुगाबे द्वारा उपराष्ट्रपति इमरसन मनांगवा को बर्खास्त किये जाने के बाद यह कदम उठाया है। रिपोर्ट में कहा गया कि राजधानी हरारे के उत्तरी हिस्से में बुधवार को भारी गोलीबारी और तोपों से गोले छोड़े जाने की आवाजें सुनी गयी। सेना के प्रवक्ता की ओर से जारी एक बयान में बताया गया कि श्री मुगाबे सुरक्षित हैं, लेकिन यह नहीं कहा जा सकता कि वह कहां हैं। दूसरी तरफ श्री मुगाबे की ओर से जिम्बाब्वे पर सेना के नियंत्रण के संबंध में कोई टिप्पणी नहीं की गयी है।
सैन्य अधिकारी मेजर जनरल सिबुसिसो मॉयो ने नागरिकों को आश्वस्त किया है कि श्री मुगाबे एवं उनका परिवार सुरक्षित है तथा उनकी सुरक्षा की गारंटी है।
उन्होंने कहा, हम केवल उन अपराधियों को लक्ष्य कर रहे हैं जिनकी वजह से देश को सामाजिक और आर्थिक हानि उठानी पड़ रही है। हम शीघ्र ही अपना अभियान पूरा कर लेंगे और हमें उम्मीद है कि स्थिति शीघ्र ही सामान्य हो जायेगी। बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक अभी यह स्पष्ट नहीं हुआ है कि सैन्य कार्रवाई की अगुवाई कौन कर रहा है। इस बीच, सरकारी प्रवक्ता ने रायटर को बताया कि वित्त मंत्री इगनाटियूस चोम्बो को हिरासत में लिया गया है। श्री चोम्बो श्री मुगाबे की पत्नी ग्रेस की अगुवाई वाले जानु-पीएफ पार्टी के एक धड़े के प्रमुख सदस्य हैं।
जिम्बाब्वे के विपक्षी नेता मोरगन सवांगिराई के पूर्व सलाहकार एलेक्स मगायसा ने कहा कि उन्हें सेना के देश पर नियंत्रण कर लिये जाने संबंधी दावे पर भरोसा नहीं है।

Sharing it

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *