खाने को दाना नही, बच्चे गांव से मांगकर खा रहे खाना

Sharing it

दंतेवाड़ा (नवप्रदेश)
सुनकर भी रोंगटे खड़े हो जाए हालात देख आश्रम के जहाँ आदिवासी बच्चों को आवासीय आश्रम में चावल और नमक खाने को छोड़ दिया गया है। दंतेवाड़ा जिले विकासखण्ड कुआकोंडा में संचालित मदाड़ी बालक आश्रम में अध्ययनरत बच्चों को आश्रम की तरफ से नमक और चावल दिया जा रहा है। नवप्रदेश की टीम ने जब आश्रम की हालत देखी तो तस्वीरे चौकाने वाली थी।
आश्रम अधीक्षक नदारद, भृत्य गायब, भूखे नौनिहाल खुद भोजन बना रहे
मदाड़ी बालक आश्रम में प्राथमिक स्तर के 50 बच्चे दर्ज है। जो कि अतरिक्त कक्ष में चलाया जा रहा है। बच्चो के सोने वाले कमरे में 17 बिस्तर है। हर बिस्तर पर 3 बच्चे सोते है। जैसे तैसे अगर बच्चे रहते भी है। तो बिस्तर फ़टे, मच्छरदानिया फटी, टूटे पलंग भविष्य की तस्वीर को दिखाने वाले नौनिहालो के मुकद्दर में आश्रम में मिल रहा है। दशहरा के अवकाश के चलते वैसे तो अधिक बच्चे अपने घरों को चले गये है। लेकिन आश्रम में जगरगुंडा जैसे पहुचवहीन गांव के छात्र अब भी आश्रम में रुके हुए है। छात्र आयतु,मुकेश,राहुल,रवि ने बताया कि हम लोगो के लिए राशन नही है। हम लोग खुद पपीता और कुंदरू गांव से मांगकर खुद खाने के लिए बनाए है।तो वही आश्रम के पास रहने वाले ग्रामीण नंदकुमार ने बताया कि आश्रम अधीक्षक किरन्दुल से आता है। जो कभी कबार ही आश्रम में पहुँचता है।
स्टाक गोदाम में चावल और मात्र नमक दिखा
आश्रम के स्टॉक गोदाम को छात्रों ने दिखाया तो राशन के नाम पर महज चावल और नमक दिखाई दिया।बाकि बर्तन खाली पड़े रहे।हा अलमारी में जरूर कुछ सड़े प्याज और लाल मिर्ची दिखी।
अव्यवस्था देख नवप्रदेश संवाददाता 10 किलोमीटर दूर आश्रम अधीक्षक को अवगत कराने गए
आश्रम में बच्चों के इस तरह के हालात देखकर हम आश्रम अधीक्षक के घर किरन्दुल पहुँचे। जहाँ आश्रम अधीक्षक की किराना दुकान एक संचलित होती है। घण्टो दरवाजे में इंतज़ार के बाद जब आश्रम अधीक्षक ज्ञान सिंह कतलाम से मुलाकात कर पूरे मामले से अवगत कराया तो अपनी गलती स्वीकारने के बजाय पत्रकारों को ही नसीहत देने में लग गए। बिना बात किये आश्रम की तरफ अधीक्षक रवाना भी हो गए। मामले को शिक्षा विभाग कुआकोंडा के मण्डल सयोजक रूपकुमार झाड़ी से अवगत करा कर स्वयं हमने उन्हें आश्रम परिसर तक तस्दीक करने को कहा। जहाँ स्पष्ट अवस्था दिख रही थी। मंडल सयोजक के सामने ही छात्रों ने आश्रम की अवस्थाओ से अवगत भी कराया।

Sharing it

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *