प्रदेश के सभी अंग्रेजी तथा देशी शराब दुकानों में लगेंगे नोट गिनने के मशीन

Sharing it


० टैंडर प्रक्रिया शुरू, दुकानों के कर्मचारियों को मिलेगी राहत
रायपुर । राज्य सरकार द्वारा लागू की गई नई आबकारी नीति के बाद सरकार के झोली में देशी तथा विदेशी मदिरा दुकानों में हो रही बेतहाशा शराब बिक्री से राजस्व का सीधा आवक हो रहा है। इसके मद्देनजर सरकार ने भी विभिन्न मदिरा दुकानों में तरह-तरह के हाईटेक सेवाएं देने में कोई कसर नहीं छोड़ रही। इसी क्रम में राज्य सरकार का आबकारी विभाग ने नया हथकंडा अपनाया है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अब सरकार विभिन्न देशी तथा विदेशी मदिरा दुकानों में नोट गिनने का मशीन लगाने जा रही है। मशीन लगाने की पक्रिया के पूर्व निर्धारित मापदंडों के अनुसार सरकार ने विभिन्न डिजीटल कंपनियों द्वारा एवं ठेकेदारों द्वारा टेंडर प्रक्रिया भी शुरू कर दी है।
कर्मचारियों को मिलेगी राहत
शराब दुकानों में लगाए जाने वाले नोट गिनने की मशीन से वहां कार्य कर रहे सुपरवाइजरों तथा सेल्समेनों को भी राहत मिलेगी। गौरतलब हो कि देशी तथा विदेशी मदिरा दुकानों में कुल कर्मचारियों की संख्या आधा दर्जन होती है। जिसमें से एक सुपरवाइजर तथा कुछ सेल्समैन कार्यरत होते हैं। विडंबना यह होती है कि मदिरा प्रेमियों की भारी भीड़ के चलते दो से तीन कर्मचारी हाथों से नोट गिनने के कार्य में जुटे रहते हैं। रात्रि दस बजे दुकान बंद होते होते तक इन्हें कई घंटे लग जाते हैं नोट गिनते गिनते। नोट गिनने के मशीन लगने के बाद एक ही कर्मचारी नोट गिनने के कार्य में जुट सकता है और नकली कैरेसियों की भी पहचान हो जाएगी।
पूर्व में भी लग चुके हैं स्केनर मशीन
देशी तथा विदेशी शराब दुकानों में अधिक कीमतों पर शराब बेचे जाने की शिकायत के मद्देनजर पहले भी इस पर लगाम लगाने के लिए विभाग ने स्केनर मशीन प्रत्येक शराब दुकानों में लगाया है। स्केनर मशीन लगाने के बाद वहां ओवर रेटिंग की समस्या से मदिरा प्रेमियों को निजात मिला है।

Sharing it

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *