बल्लेबाजों की शानदार फार्म से बढ़ा टीम इंडिया का सिरदर्द

Sharing it

कोलंबो,। श्रीलंका के खिलाफ पहले टेस्ट में रिकॉर्ड जीत दर्ज करने के बाद भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली के सामने दूसरे टेस्ट से पहले बल्लेबाजी क्रम को लेकर चिंताएं बढ़ गई हैं। विश्व की नंबर एक टेस्ट टीम भारत ने गाले में 304 रनों की रिकॉर्ड जीत दर्ज कर तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल कर ली है। इस मैच में ओपनर शिखर धवन ने मात्र 168 गेंदों में 190 रन की शानदार पारी खेली थी। वहीं अभिनव मुकुंद ने दूसरी पारी में शानदार 81 रन बनाए थे। इसके अलावा कप्तान विराट ने भी दूसरी पारी में नाबाद 103 रन बनाए थे।
श्रीलंका दौरे पर भारत के शीर्ष चार बल्लेबाज शानदार फॉर्म में हैं और इसी वजह से कप्तान विराट और कोच रवि शास्त्री इस बात को लेकर चिंतित हैं कि गुरुवार से शुरु हो रहे कोलंबो टेस्ट में किस खिलाड़ी को मौका दिया जाए और किसे किसे बाहर बिठाया जाए। विराट ने संवाददाताओं से कहा, हां यह बेहद मुश्किल स्थिति है। हमारे शीर्ष चार बल्लेबाज शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं। शिखर को मेलबोर्न में होना चाहिए था। लेकिन गाले टेस्ट में उन्होंने 190 रन बना डाले, इसलिए जीवन में कुछ भी हो सकता है। पहले टेस्ट में लोकेश राहुल बुखार के कारण नहीं खेल पाए थे। लेकिन अब वह भी फिट हैं और ऐसे में टीम प्रबंधन फिलहाल यह तय नहीं कर पा रहा है कि पहले टेस्ट में शानदार प्रदर्शन करने वाले शिखर और मुकुंद में किसे बाहर रखा जाए। गाले टेस्ट की पहली पारी में भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 600 रन का पहाड़ स्कोर बनाया और फिर मेजबान टीम को 291 रन पर ढेर कर दिया। भारत ने 309 रनों की विशाल बढ़त हासिल की और दूसरी पारी में तीन विकेट पर 240 रन बनाकर पारी घोषित कर दी तथा श्रीलंका को 550 रनों का विशाल लक्ष्य दे दिया। जिससे मेजबान टीम 245 रन ही बना सकीं और 304 रनों से मैच हार गई। कप्तान ने कहा, यह बड़ा जटिल निर्णय है। लेकिन हमें यह फैसला लेना होगा कि कोलंबो टेस्ट में कौन खेलेगा। मुझे उम्मीद है कि जो भी तीसरा खिलाड़ी होगा वह समझ जाएगा कि यह फैसला टीम प्रबंधन ने लिया है। (वार्ता)

Sharing it

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *