Month: August 2017

भिंडी बाजार में पांच-मंजि़ला इमारत गिरी, 16 की मौत

भिंडी बाजार में पांच-मंजि़ला इमारत गिरी, 16 की मौत

National
मुंबई। मुंबई के भिंडी बाजार में एक 5 मंजिला इमारत गिर गई. इसके चलते 16 लोगों की मौत हो गई है जबकि 20 से अधिक लोगों के फंसे होने की आशंका जताई जा रही है. आज सुबह करीब 8-8.30 बजे इस भीड़भाड़ वाले इलाके में यह हादसा हुआ. खबर है कि मौक़े पर राहत और बचाव का काम जारी है. स्थानीय लोग जो अंदर फंसे हैं उन्हें निकालने की लगातार कोशिश की जा रही है, वहीं मलबा हटाने का काम भी जारी है. नडीआरएफ की टीमें भी पहुंच चुकी हैं. बृहनमुंबई महानगरपालिका के आपदा प्रबंधन प्रकोष्ठ को सुबह 8 बजकर 40 मिनट पर फोन से इस दुर्घटना की जानकारी मिली थी।
दीवाली से पहले 13 लाख किसानों को 21 सौ करोड़ का बोनस

दीवाली से पहले 13 लाख किसानों को 21 सौ करोड़ का बोनस

Chhattisgarh
रायपुर, (नव प्रदेश)। बीजेपी ने अपना चुनावी ब्रह्मास्त्र छोड़ते हुए आज मुद्दतों से लंबित पड़े किसानों को धान का बोनस देने का ऐलान आखिर कर ही दिया। हालांकि बीजेपी का यह चुनावी मास्टर स्टोक का श्रेय विपक्ष के दोनों पार्टियां ही ले रही हैं। आज माना स्थित बीजेपी पार्टी कार्यालय कुशाभाऊ परिसर में सभी विधायक-सांसदों की बैठक के बीच यह अहम फैसला लेकर जहां किसानों के चेहरे पर मुस्कान लाने की कोशिश की जा रही हैं वहीं विपक्ष इसे चुनावी फीवर की तैयारी भी कहने से नहीं चूके। दरअसल बहुप्रतिक्षित एवं बहुलंबित मुद्दा किसानों को धान का बोनस न मिलने को लेकर जहां जोगी कांग्रेस ने जन जन जोगी अभियान चलाकर समर्थन मूल्य का लिखित शपथ पत्र घर-घर पहुंचा रहा हैं वहीं प्रदेश कांग्रेस भी इस मामले में पीछे न रहते हुए दिल्ली में प्रधानमंत्री निवास का भी घेराव किया है। राज्य सरकार ने किसानों के हित में साल 2013 में धान क
कांग्रेस ने लिया श्रेय, माना फिर भी है वादा अधूरा

कांग्रेस ने लिया श्रेय, माना फिर भी है वादा अधूरा

Chhattisgarh
रायपुर, (नव प्रदेश)। किसानों को बोनस और समर्थन मूल्य पर राजनीति अब चरम पर पहुंच चुकी है। एक तरफ प्रदेश का मुखिया जहां ऐन वक्त पर पूर्व चुनावी ब्रम्हास्त्र छोड़ते हुए किसानों को 2 साल का बोनस और समर्थन मूल्य देने की घोषणा करती है वहां प्रदेश कांग्रेस इसका श्रेय अपने सिर लेते हुए कहते हैं कि बोनस की घोषण आधी अधूरी है। किसानों के साथ छलावा है। आज पीसीसी अध्यक्ष भूपेश बघेल ने धान बोनस पर प्रेस कांफ्रेंस लेते हुए अपनी प्रतिक्रिया कुछ इस तरह दिया। उन्होंने आगे कहा कि बोनस की घोषणा आधी अधूरी है। राज्य में सूखा पड़ा है। उन्होंने कहा कि सीएम किसानों की कर्ज माफी की घोषणा करें। उन्होंने कहा कि ये बोनस एक साल का है सरकार को तीन साल का बोनस देना चाहिए। भूपेश ने कहा कि किसानों के मामले में सीएम संवेदनशील नहीं हैं। उन्होंने ये घोषणा मंत्रालय की जगह बीजेपी कार्यलय में की। भूपेश ने सरकार से पूछा है कि रा
सही समय पर लिया गया बड़ा फैसला

सही समय पर लिया गया बड़ा फैसला

Vichar
त्वरित टिप्पणी : गिरीश पंकज छत्तीसगढ़ के किसान इस बात को लेकर बेहद नाराज़ चल रहे थे कि भाजपा सरकार बोनस की घोषणा ही नहीं कर रही है. इस मुद्दे को लेकर किसान आंदोलन भी करते रहे और कांग्रेस को भी मौका मिलता रहा कि सरकार किसानो से छल कर रही है, लेकिन आज एक ही घोषणा में सारे विरोधी स्वर हतप्रभ रह गए।, जब सरकार ने ऐलान किया कि प्रदेश के लगभग 13 लाख किसानों को 2100 करोड़ रूपये का बोनस बांटेगी। यह एक बड़ी घोषणा है और सरकार की खराब हो रही छवि को चमकाने का सधा हुआ निर्णय भी है। इस घोषणा को आगामी वर्ष चुनाव के मद्देनजऱ भी देखा जा रहा है, लेकिन हिडेन एजेंडा जो भी हो, महत्वपूर्ण है यह घोषणा दिवाली के पहले किसानो को एक तरह से दिवाली का सुंदर उपहार देने जैसा है. मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने जब सांसद विधायकों व पदाधिकारियों की आपात बैठक बुलाई तो तरह-तरह के कयास लगाए जाने लगे कि पता नहीं क्या होगा, लेकिन ज
कॉलेजों और विश्वविद्यालयों शिक्षा गुणवत्ता का रखे ध्यान: प्रेमप्रकाश

कॉलेजों और विश्वविद्यालयों शिक्षा गुणवत्ता का रखे ध्यान: प्रेमप्रकाश

Chhattisgarh
रायपुर (नवप्रदेश)। उच्चतर शैक्षणिक संस्थानों में ज्ञान और अनुसंधान की व्यवस्था उच्च शिक्षा का मूल लक्ष्य होना चाहिए। आधुनिक परिवेश में कौशल-सम्पन्न मानव संसाधन का समूह-निर्माण भी उच्च शिक्षा की समयानुसार जरूरत है। उच्च शिक्षा मंत्री श्री प्रेमप्रकाश पाण्डेय ने आज यहां इन्दिरागांधी कृषि विश्वविद्यालय रायपुर के स्वामी विवेकानंद सभागार में उच्च शिक्षा विभाग द्वारा आयोजित 'राष्ट्रीय गुणवत्ता नवचेतना पहल के तत्वावधान में 'मूल्याकन एवं प्रत्यायन'' पर एक दिवसीय कार्यशाला का शुभारंभ अवसर इस आशय के विचार व्यक्त किए । कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के तौर पर श्री पूनम बी.राज, इन्दिरागांधी कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. एस.के. पाटिल, उच्च शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव श्री सुनील कुजूर, उच्च शिक्षा आयुक्त डॉ. बसवराजू एस, राज्य परियोजना संचालक (रूसा) श्री भुवनेश यादव सहित उच्च शिक्षा विभाग के अधिकारी कॉल
नक्सली पीछे हट रहे, क्योंकि लोगों के दरवाजे तक पहुंच रहा विकास: डॉ. रमन

नक्सली पीछे हट रहे, क्योंकि लोगों के दरवाजे तक पहुंच रहा विकास: डॉ. रमन

Chhattisgarh
रायपुर (नवप्रदेश)। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि राज्य के आदिवासी बहुल सुकमा जिले को नक्सलियों का राष्ट्रीय मुख्यालय माना जाता था, लेकिन अब वहां भी नक्सली पीछे हट रहे हैं, क्योंकि सरकार विकास को लेकर हम उस अंचल के लोगों के दरवाजे तक पहुंच रहे हैं। उन्होंने कहा कि दंतेवाड़ा और सुकमा जिलों में बनाए गए एजुकेशन हब से वहां के हजारों बच्चों के लिए शिक्षा के साथ भविष्य निर्माण का मार्ग आसान हो रहा है। उन्होंने कहा - वर्ष 2022 में जब हम लोग देश की आजादी की 75वीं वर्षगांठ मनाएंगे, उस समय तक छत्तीसगढ़ भारत के प्रथम तीन सर्वाधिक विकसित राज्यों की श्रेणी में शामिल हो जाएगा। मुख्यमंत्री आज यहां दैनिक बिजनेस स्टेडर्ड द्वारा आयोजित सम्मेलन को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा - राज्य सरकार नये सेक्टरों में नये विचारों के साथ प्रदेश के विकास और समाज के सभी वर्गों की बेहतरी के लिए काम कर रही है। छत
पर्यटक स्थल रानीदहरा में सुविधाओं की दरकार

पर्यटक स्थल रानीदहरा में सुविधाओं की दरकार

Chhattisgarh
कवर्धा (नवप्रदेश)। जिले के प्रसिद्ध पर्यटक स्थल मे शुमार बैरख पंचायत के रानीदहरा वॉटरफाल मे पर्यटक सुविधाओं के लिए पर्यटकों को भटकना पड़ रहा है। सतपुड़ा पर्वत के सुरम्य वादियों प्रकृति के गोद में रानीदहरा जलप्रपात में बारीश के शुरू होते ही पर्यटकों का आना शुरू हो जाता है, ऐसे में पर्यटको की सुविधाओं को लेकर शासन प्रशासन द्वारा ध्यान नही दिये जाने से पर्यटकों को परेशानीयों का सामना करना पड़ रहा है। रानीदहरा जलप्रपात मे पर्यटकों को सुविधाओं के नाम पर शासन प्रशासन के द्वारा 1 सिमेंट सेड का निमार्ण व दूसरा फॉल तक पहुंचने के लिए सीढ़ीयां बनाई गई है, देख रेख के आभाव मे दोने ही संसाधनों का बुरा हाल है। झरना तक पहुचनें के लिए बनायें गये सीढ़ीयों के लोहे के रैलिंग लगातार चोरी हो रही है, सीढ़ीयो में पेड़ पौधे गिर जाने के कारण पर्यटको को फॉल तक पहुंचने के लिए नदी के बीचोबीच होकर जाना पड़ता है, जिसस
खुले में बिक रहे खाद्य पदार्थ

खुले में बिक रहे खाद्य पदार्थ

Chhattisgarh
कवर्धा (नव प्रदेश)। नगर सहित जिले भर में चौक-चौराहों सहित कई स्थानों पर ठेले-खोमचे में हो रही खाद्य पदार्थों की बिक्री बरसाती दिनों में होने वाली संक्रमित बिमारियों का कारण बन रही है। ठेले में एवं कई छोटे होटलों में खुले में रखे खाद्य पदार्थ ग्राहकों को परोसा जा रहा है। खुले में रखे खाद्य पदार्थों पर धूल की परतें जमीं रहती है और होटल संचालक खाद्य गुणवत्ता के मानकों को दरकिनार कर दिया जाता है। जो लोगों की सेहत पर बुरा असर डाल रहा है। इन स्थानों पर मिलनें वाले सामानों को कम दाम में बेचे जाने के कारण भी लोग अपनी आर्थिक बचत को देखते हुए इन खाद्य पदार्थों को लेकर अपनी सेहत के साथ खिलवाड़ कर रहे है। शायद ऐसे लोगों को ये पता नहीं होता की चंद पैसे बचाने की लालच इन्हें सेहत के साथ-साथ आर्थिक परेशानियों का कारण बनेगी। बरसाती मौसम होने के कारण आजकल संक्रमित बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है और खुले में
इधर-उधर न फेंके सिम कॉर्ड आईडी कॉर्ड भी रखें संभाल कर

इधर-उधर न फेंके सिम कॉर्ड आईडी कॉर्ड भी रखें संभाल कर

Chhattisgarh
जांजगीर-चांपा (नव प्रदेश) अपराध करने के लिए फर्जी नाम.पते से खरीदे गए मोबाइल सिम का इस्तेमाल बढ़ गया है। इन मोबाइल सिम के जरिए ठगी और अपहरण जैसी घटनाएं की जा रही है। अपराध करने के लिए फर्जी नाम.पते से खरीदे गए मोबाइल सिम का इस्तेमाल बढ़ गया है। इन मोबाइल सिम के जरिए ठगी और अपहरण जैसी घटनाएं की जा रही है। ऑनलाइन ठगीए एटीएम फ्रॉड व अन्य ठगी की वारदातों के अलावा धमकी और गाली.गलौज के लिए ऐसे मोबाइल सिम का उपयोग किया जा रहा है। मोबाइल सिम खरीदने के दौरान दस्तावेजों की जांच नहीं होती। पुलिस भी सिम बेचने वालों पर कार्रवाई नहीं कर पा रही है। इसके चलते फर्जी दस्तावेजों के आधार पर सिम खरीदकर अपराध करने वालों की संख्या बढ़ती जा रही है। फर्जी दस्तावेजों के आधार पर खरीदे गए मोबाइल सिमों का सबसे से ज्यादा इस्तेमाल गांजा तस्कर और ऑनलाइन फ्रॉड करने वाले कर रहे हैं।गांजा का पार्सल पहुंंचाने के लिए जिन ल
खास है गणेश पूजा

खास है गणेश पूजा

Chhattisgarh
जांजगीर-चांपा (नवप्रदेश)। दस दिवसीय गणेश उत्सव शुरू हो गया है वैसे भी गणपति का दिन कहा जाता है जो इस समय और भी विशेष हो जाता है अत उनकी पूजा कर आशीष लेना ना भूलें। श्री गणेश की विधिवत पूजा करने के बाद गुड़ और घी का भोग लगाएं। थोड़ी देर के बाद ये भोग गाय को खिला दें। इसे व्यक्ति को विशेष फल की प्राप्ति होगी। इस दिन यदि घर में श्रीगणेश की सफेद रंग की प्रतिमा स्थापना करें तो इसे अत्यंत शुभ माना जाता है। सफेद मोदक का प्रसाद चढ़ाना और ग्रहण करना भी ना भूलें। इससे घर में और मन में शांति बनी रहेगी। कहते हैं दिन गणेश जी को शमी के पत्ते अर्पित करने से तीक्ष्ण बुद्धि होती है। इसके साथ ही ग्रह कलह का भी नाश होता है। इसके अलावा लंम्?बोदर पर लाल सिंदूर और बूंदी के लड्डू भी अर्पित करें। जिला मुख्यालय में इन दिनों गणेशोत्सव की धूम मची है। चतुर्थी में विराजे गणपति की पूजा अर्चना शुरु हो गई है। भारी बारिश