International

रिहाई पर आतंकी हाफिज का हीरो जैसा स्वागत, रैली में उगला जहर

रिहाई पर आतंकी हाफिज का हीरो जैसा स्वागत, रैली में उगला जहर

International
लाहौर। करीब 300 दिनों तक अपने घर में नजरबंद रहने के बाद मुंबई हमले का मास्टरमाइंड हाफिज सईद गुरुवार देर रात रिहा हुआ। रिहा होने के बाद उसने भारत के खिलाफ जमकर जहर उगला। बाद में उसने जमात-उद-दावा के मुख्यालय में एक रैली की और फिर से भारत के खिलाफ जहर उगला। हाफिज सईद ने कहा कि वह भारत के खिलाफ जिहाद जारी रखेगा। संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा घोषित इस वैश्विक आतंकी के गुर्गों और समर्थकों ने इस मौके पर अपनी ताकत का मुजाहिरा किया। हाफिज के घर के बाहर बड़ी तादाद में उसके समर्थक जुटे थे। उसके समर्थकों ने उसके पक्ष में जमकर नारेबाजी की और उस पर फूलों की बारिश भी की। उसकी कार को उसके गुर्गों और समर्थकों ने गुलाब की पंखुडिय़ों से ढक दिया। इस मौके पर लश्कर के नारे लगाए गए। हाफिज सईद की रिहाई के बाद उसके घर के बाहर बड़ी तादाद में लश्कर और जमात-उद-दावा से जुड़े आतंकी जुटे। मुंबई आतंकी हमले का आरोपी जकीउर
न्यूजीलैंड के बीच ऊर्जा क्षेत्र में हो सहयोग: मोदी

न्यूजीलैंड के बीच ऊर्जा क्षेत्र में हो सहयोग: मोदी

International
मनीला। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अक्षय ऊर्जा के क्षेत्र में न्यूजीलैंड के साथ द्विपक्षीय संबंधों को प्रगाढ़ करने पर जोर दिया है। श्री मोदी ने न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न को भारत दौरे का न्यौता भी दिया है। विदेश मंत्रालय की सचिव(पूर्व) प्रीति सरन ने कहा, न्यूजीलैंड के प्रधानमंत्री के साथ बैठक के दौरान श्री मोदी ने अक्षय ऊर्जा और संबंधित क्षेत्रों में न्यूजीलैंड के साथ सहयोग करने पर जोर दिया। श्री मोदी और श्रीमती अर्डर्न ने एक-दूसरे को अपने-अपने देश आने का न्यौता भी दिया। उन्होंने कहा, दोनों नेताओं के बीच पहली बार बातचीत हुई। श्री मोदी ने श्रीमती अर्डर्न को चुनाव में जीत के लिए बधाई दी। सचिव(पूर्व) ने कहा श्री मोदी ने न्यूजीलैंड में भारतीय प्रवासियों की उपस्थिति और अधिक सहयोग के महत्व को रेखांकित किया। न्यूजीलैंड बॉलीवुड फिल्मों की शूटिंग के लिए एक महत्वपूर्ण स्थान है।
जिम्बाब्वे में तख्तापलट, राष्ट्रपति रॉबर्ट मुगाबे और पत्नी सेना की कस्टडी में

जिम्बाब्वे में तख्तापलट, राष्ट्रपति रॉबर्ट मुगाबे और पत्नी सेना की कस्टडी में

International
हरारे। जिम्बाब्वे की सेना ने देश को अपने नियंत्रण में ले लिया है लेकिन राष्ट्रपति राबर्ट मुगाबे सुरक्षित बताये गये हैं। बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक सेना ने श्री मुगाबे द्वारा उपराष्ट्रपति इमरसन मनांगवा को बर्खास्त किये जाने के बाद यह कदम उठाया है। रिपोर्ट में कहा गया कि राजधानी हरारे के उत्तरी हिस्से में बुधवार को भारी गोलीबारी और तोपों से गोले छोड़े जाने की आवाजें सुनी गयी। सेना के प्रवक्ता की ओर से जारी एक बयान में बताया गया कि श्री मुगाबे सुरक्षित हैं, लेकिन यह नहीं कहा जा सकता कि वह कहां हैं। दूसरी तरफ श्री मुगाबे की ओर से जिम्बाब्वे पर सेना के नियंत्रण के संबंध में कोई टिप्पणी नहीं की गयी है। सैन्य अधिकारी मेजर जनरल सिबुसिसो मॉयो ने नागरिकों को आश्वस्त किया है कि श्री मुगाबे एवं उनका परिवार सुरक्षित है तथा उनकी सुरक्षा की गारंटी है। उन्होंने कहा, हम केवल उन अपराधियों को लक्ष्य कर र
आर्थिक सुधारों और नोटबंदी से साफ सुथरी हुई अर्थव्यवस्था : मोदी

आर्थिक सुधारों और नोटबंदी से साफ सुथरी हुई अर्थव्यवस्था : मोदी

International
मनीला। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आसियान देशों के निवेशकों से भारत में निवेश का आह्वान करते हुए आज कहा कि सरकार के आर्थिक सुधारों और नोटबंदी से अर्थव्यवस्था का एक बड़ा हिस्सा औपचारिक धारा में शामिल हुआ है, प्रत्यक्ष विदेशी निवेश बढ़ा है और कारोबार की आसानी में देश की रैंकिंग सुधरी है। श्री मोदी ने यहां 'आसियान कारेबार एवं निवेश सम्मेलनÓ में अपने संबोधन में कहा कि मौजूदा सरकार ने भारत में बदलाव के लिए दिन-रात प्रयास किया है। प्रशासन में सरलता और पारदर्शिता लायी गयी है। खदानों, स्पेक्ट्रमों आदि की ई-नीलामी से सरकारी खजाने में 75 अरब डॉलर का राजस्व आया है। सरकार ने वित्तीय लेनदेन और आयकर रिटर्न को आधार से जोड़ दिया है। इन सुधारों के साथ नोटबंदी जैसे कदम से भ्रष्टाचार मिटाने में मदद मिली है और अर्थव्यवस्था का बड़ा हिस्सा औपचारिक धारा में शामिल हुआ है। नोटबंदी और जीएसटी के क्रियान्वयन को लेकर
समुद्री तूफान मारिया से डोमिनिका में 32 मरे

समुद्री तूफान मारिया से डोमिनिका में 32 मरे

International
सैन जुआन प्यूर्टो रिको। कैरेबियाई देश डोमिनिका में हाल में आए समुद्री तूफान मारिया से अब तक कम से कम 32 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि कई लापता हैं। प्रधानमंत्री रूज़वेल्ट स्केरिट ने एक स्थानीय टीवी चैनल से कहा, "तूफान से अब तक 32 लोगों की मौत हो चुकी है। द्वीप को इस संकट से उबरने के लिए पूरी दुनिया से मदद की ज़रुरत है।" पांचवीं श्रेणी का चक्रवाती तूफ़ान मारिया सोमवार को डोमिनिका से टकाराया था। इस तूफ़ान के कारण सैकड़ों घरों को नुकसान पहुंचा है।पास के ही एंटिगा द्वीप से बात करते हुए स्केरिट ने कहा कि पिछले चौबीस घंटों में उन्होंने इस शक्तिशाली तूफ़ान से हुए नुकसान का जायज़ा लिया है। तूफान के कारण लोगों के घरों को नुकसान पहुंचा है और पूरे द्वीप में बिजली सेवा बाधित हो गई है। इससे कैरेबियाई द्वीप में 25 से अधिक लोगों की मौत हो गई है। पूरे द्वीप की संचार व्यवस्था ठप हो गई है और हवाई अड्डे भी बं
मेक्सिको में विनाशकारी भूकंप, 226 की मौत

मेक्सिको में विनाशकारी भूकंप, 226 की मौत

International
मेक्सिको सिटी। मेक्सिको में कल देर रात भूकंप के जबरदस्त झटके महसूस किये गये। रिक्टर पैमाने पर 7.1 तीव्रता वाले इस विनाशकारी भूकंप में कम से कम 226 लोगों की मौत हो गयी और दर्जनों इमारतें ढह गयीं। इस भूकंप के कारण मेक्सिको सिटी, मोरलियोस और पुएब्ला प्रांतों में भारी तबाही मची है। मेक्सिको के राष्ट्रपति एनरिक पेना नीतो ने बताया कि कोआपा के पास एक स्कूल में 20 से अधिक बच्चे और दो वयस्कों की मलबे में दबकर मौत हो गयी है। इसके अलावा 30 बच्चे और 12 वयस्क लापता हैं। प्रभावित क्षेत्रों में राहत एवं बचाव कर्मियों को भेज दिया गया है और उनका अभियान रात भर जारी रहा। कई लोगों को मलबे से जीवित भी निकाला गया है। मेक्सिको सिटी के मेयर ने कहा कि भूकंप के कारण शहर में 44 इमारतें बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गयीं जिनमें एक प्राइमरी स्कूल भी शामिल है और कई मकान जमींदोज हो गये। इससे दो सप्ताह पहले भी मेक्सिको में भीष
बांग्लादेश: भारी बारिश के बाद भूस्खलन, 53 लोगों की मौत

बांग्लादेश: भारी बारिश के बाद भूस्खलन, 53 लोगों की मौत

International, National
नई दिल्ली । उत्तर-पूर्वी बांग्लादेश में मूसलाधार बारिश की वजह से जगह-जगह हुई भूस्खलन की घटनाओं में दो सैन्य अधिकारियों सहित कम से कम 53 लोगों की मौत हो गई। मृतकों की संख्ख्या बढ़ सकती है क्योंकि अनेक लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका है। अधिकारियों ने आज बताया कि सर्वाधिक जनहानि रंगमाटी पर्वतीय जिले में हुई है जहां 36 लोगों के मरने की खबर है। मरने वालों में कम से कम दौ सैन्य अधिकारी भी शामिमल हैं। सेना के एक प्रवक्ता ने ढाका में बताया, ''अब तक हम आपको यह पुष्टि कर सकते हैं कि हमारे दो सैन्य अधिकारी उस समय मारे गए और कई अन्य घायल हो गए जब वे ड्यूटी पर थे। उन्होंने बताया कि सेना की एक टीम रंगमाटी से बंदरगाह शहर को जोडऩे वाली सड़क को खोलने के लिए तैनात की गई थी। यह सड़क रात में हुए भूस्खलन के चलते अवरद्ध हो गई थी। जब सेना की टीम सड़क को खोलने का काम कर रही थी तभी ताजा भूस्खलन हो गया और सै
दूसरे देशों में बसने की योजना बनाने वालों में भारत दूसरे नंबर पर

दूसरे देशों में बसने की योजना बनाने वालों में भारत दूसरे नंबर पर

International
जेनेवा: भारत के लिए खतरे की घंटी है। वह उन देशों में दूसरे नंबर पर है जहां वयस्क दूसरे देशों में बसने की योजना बना रहे हैं और अमरीका तथा ब्रिटेन उनके पसंदीदा देश हैं। संयुक्त राष्ट्र की प्रवासन एजैंसी अंतर्राष्ट्रीय प्रवास संगठन (आई.ओ.एम.) ने अपनी एक रिपोर्ट में कहा कि दुनियाभर में वयस्क आबादी के 1.3 फीसदी या 6 करोड़ 60 लाख लोगों ने कहा कि वे अगले 12 महीनों में स्थायी तौर पर प्रवास करने की योजना बना रहे हैं।प्रवास करने की योजना बनाने वालों में से 50 प्रतिशत लोग 20 देशों में रहते हैं जिनमें पहले नंबर पर नाइजीरिया और दूसरे नंबर पर भारत है। इसके बाद कांगो, सूडान, बंगलादेश और चीन का नंबर आता है। पश्चिम अफ्रीका, दक्षिण एशिया और उत्तर अफ्रीका ऐसे क्षेत्र हैं जहां सबसे अधिक लोगों के प्रवास करने की संभावना है। यह अध्ययन गैलप वल्र्ड पोल द्वारा एकत्रित किए गए अंतर्राष्ट्रीय आंकड़ों पर आधारित है।
पैरिस समझौते पर अलग-थलग पड़ा अमरीका

पैरिस समझौते पर अलग-थलग पड़ा अमरीका

International
वॉशिंगटन। अमरीका जी-20 शिखर सम्मेलन में शनिवार को उस वक्त अलग-थलग पड़ गया जब भारत और समूह के 18 अन्य सदस्यों ने पेरिस जलवायु समझौते को 'बदला नहीं जा सकने वाला करार दिया और इस ऐतिहासिक समझौते का समर्थन किया जिससे वॉशिंगटन ने अलग होने का निर्णय लिया है। 2 दिवसीय जी-20 शिखर सम्मेलन में भारतीय पक्ष को आतंकवाद को रोकने और वैश्विक व्यापार एवं निवेश को बढ़ावा देने के संकल्प में महत्वपूर्ण योगदान देते देखा गया। इस शिखर सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा मेजबान जर्मनी की चांसलर एंजेला मार्केल और अमरीका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप समेत विश्व के कई शीर्ष नेताओं ने भाग लिया। इस दौरान शहर में हिंसक प्रदर्शन हुए जहां हजारों पूंजीवाद विरोधी प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच संघर्ष हुआ। पेरिस समझौते में नहीं किया जा सकता परिवर्तन एंजेला ने कहा कि दुर्भाग्यवश अमरीका पेरिस समझौते के खिलाफ खड़ा
परमाणु हथियार पर रोक: 122 देशों ने संधि स्वीकारी

परमाणु हथियार पर रोक: 122 देशों ने संधि स्वीकारी

International
भारत के साथ चीन, अमेरिका और पाक ने किया बहिष्कार संयुक्त राष्ट्र। परमाणु हथियारों पर प्रतिबंध लगाने से जुड़ी पहली वैश्विक संधि की स्वीकृति के लिए संयुक्त राष्ट्र में 120 से अधिक देशों ने मतदान किया है। हालांकि, भारत, अमेरिका, चीन और पाकिस्तान सहित अन्य परमाणु क्षमता सम्पन्न देशों ने परमाणु हथियारों पर प्रतिबंध लगाने की खातिर कानूनी तौर पर बाध्यकारी व्यवस्था के लिए हुई वार्ताओं का बहिष्कार किया। परमाणु हथियार प्रतिबंध संधि परमाणु अप्रसार के लिए कानूनी तौर पर बाध्यकारी पहली बहुपक्षीय व्यवस्था है, जिसके लिए 20 साल से वार्ता चलती रही है। इस संधि पर शुक्रवार को गर्मजोशी और तारीफ के बीच मतदान हुआ, जिसमें इसके पक्ष में 122 देशों ने वोट किया। इस संधि के विरोध में सिर्फ एक देश नीदरलैंडस ने वोट किया जबकि एक देश सिंगापुर मतदान से दूर रहा। भारत, अमेरिका, रूस, ब्रिटेन, चीन, फ्रांस, पाकिस्तान, उत्तर