Uncategorized

शैक्षणिक भ्रमण: महाविद्यालयीन छात्र छात्राओं ने देखा ‘हमर छत्तीसगढ़

शैक्षणिक भ्रमण: महाविद्यालयीन छात्र छात्राओं ने देखा ‘हमर छत्तीसगढ़

Uncategorized
रायपुर (नवप्रदेश) शैक्षणिक भ्रमण पर रायपुर आए बालोद जिले के ग्राम बेलौदी स्थित नवीन महाविद्यालय के 30 छात्र-छात्राओं ने आज सवेरे यहां हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर का भ्रमण किया। उन्होंने यहां पंचायत प्रतिनिधियों के अध्ययन भ्रमण के लिए की गई तमाम व्यवस्थाओं को देखा। योजना के अधिकारियों ने विद्यार्थियों को हमर छत्तीसगढ़ योजना के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने ग्राम पंचायतों, नगर पंचायतों एवं सहकारिता प्रतिनिधियों को इस योजना से जोड़े जाने के पीछे राज्य शासन के उद्देश्यों के बारे में भी जानकारी दी। हमर छत्तीसगढ़ योजना को जानने पहुंचे छात्र-छात्राओं ने आवासीय परिसर में जनसंपर्क विभाग द्वारा लगाई गई विशाल छायाचित्र प्रदर्शनी का अवलोकन किया। यहां प्रदर्शित तस्वीरों और सूचनाओं के जरिए वे प्रदेश में पिछले 15 वर्षों में हुए विकास कार्यों और छत्तीसगढ़ की उपलब्धियों से परिचित हुए। उन्हो
नया रायपुर भ्रमण के लिए शनिवार से शुरू हो रही है चलो चले नया रायपुर योजना

नया रायपुर भ्रमण के लिए शनिवार से शुरू हो रही है चलो चले नया रायपुर योजना

Uncategorized
एनआरडीए हर शनिवार और रविवार पर्यटकों के लिए चलाएगी विशेष बस रायपुर (नवप्रदेश)। नया रायपुर से आम लोगों को परिचित कराने और पर्यटकों को आसान और सहूलियतपूर्ण भ्रमण के उद्देश्य से चलो चले नया रायपुर योजना की शुरूआत की जा रही हैण् इस शनिवार 12 अगस्त शुरू हो रही चलो चले नया रायपुर योजना के तहत रायपुर तथा अन्य स्थानों से आने वाले लोगों को बीआरटीएस तत्पर की विशेष बस सेवा के माध्यम से वातानुकूलित बसों में नया रायपुर का भ्रमण कराया जाएगाण् नया रायपुर डेव्हलपमेंट अथॉरिटी के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री मुकेश बंसल ने बताया कि शुरूआती तौर पर योजना के तहत सप्ताह के दो दिनों शनिवार और रविवार को बसों का संचालन किया जाएगाण्भ्रमण के दौरान पर्यटकों को नया रायपुर के प्रमुख स्थानों से रूबरू कराया जाएगा इसके लिए विशेष गाइड भी उपलब्ध होंगेण् ये बस नया रायपुर के जंगल सफारीएपुरखौती मुक्तांगनए सेन्ट्रल पार्कए एका
मांग का इंतजार किए बगैर हालात देखकर सिंचाई के लिए तत्काल पानी छोड़ने का निर्णय

मांग का इंतजार किए बगैर हालात देखकर सिंचाई के लिए तत्काल पानी छोड़ने का निर्णय

Uncategorized
सिंचाई-कृषि विभाग के अधिकारियों को अलर्ट रहने निर्देश फोन नहीं उठाने पर बालोद ईई को पड़ी फटकार  नहरों की होगी सघन पेट्रोलिंग, सब इंजीनियरों की नामजद ड्यूटी  मुख्यालय में निवास करने कमिश्नर के सख्त निर्देश फसल बचाने युद्धस्तर पर काम करें अधिकारी दुर्ग । कमिश्नर श्री बृजेशचंद्र मिश्र की अध्यक्षता में आज यहां संभागीय जल उपयोगिता समिति की बैठक आयोजित की गई। बैठक में किसानों से पानी की मांग का इंतजार किए बगैर हालात को देखते हुए तत्काल सिंचाई के लिए पानी छोड़ने का निर्णय लिया गया। राज्य सरकार के निर्देशानुसार तान्दुला सहित अन्य जलाशयों से पानी छोड़ने के पिछले दिनों लिए गए फैसले का अनुमोदन भी किया गया। बैठक में विधायक श्री अरूण वोरा, विधायक श्री भैयाराम सिन्हा, विधायक श्री अवधेश चंदेल, पूर्व विधायक डाॅ. दयाराम साहू, पूर्व विधायक श्री लीलाराम भोजवानी, नगर निगम दुर्ग की अध्यक्ष श्री
रमन कैबिनेट की बैठक का अहम फैसला: सूत सारथी, सईस व सहीस अब अनुसूचित जाति में शामिल

रमन कैबिनेट की बैठक का अहम फैसला: सूत सारथी, सईस व सहीस अब अनुसूचित जाति में शामिल

Uncategorized
 7 विधेयकों को दी आज मंजूरी  शिक्षाकर्मियों के मुद्दे एजेंडे में नहीं रहे शामिल रायपुर, (नव प्रदेश)। आज रमन कैबिनेट की बैठक में एक अहम फैसला लेते हुए सुत सारथी, सईस व सहीस को पिछड़ा वर्ग से हटाकर अनुसूचित जाति में शामिल किया। इसके अलावा पीएफ में ब्याज दर पर भी एक अहम चर्चा हुई। इस सत्र की यह अंतिम बैठक होने के नाते जहा कई विधेयकों को हरी झंडी दी गई जो विधानसभा सत्र में पेश किये जायेंगे, वहीं शिक्षाकर्मियों के अहम मुद्दों को एजेंडे में शामिल नहीं किया गया। रमन कैबिनेट की बैठक में जहां कई अहम फैसला लिया गया वहीं एजेंडे में शिक्षाकर्मियों के महत्वपूर्ण मुद्दे को शामिल नहीं किया गया। बैठक में भविष्य निधि पर अहम फैसला लिया, जिसमें अब राज्य शासन सामान्य भविष्य निधि और अंशदायी भविष्य निधि में 1 जुलाई 2017 से 30 सितंबर 2017 तक ब्याज दर में 7.8 प्रतिशत रखा जाये। दरअसल भारत सरकार ने इस अव
छत्तीसगढ़ के दस गांव बारिश में तेलंगाना के भरोसे

छत्तीसगढ़ के दस गांव बारिश में तेलंगाना के भरोसे

Uncategorized
चिंतावागु में पानी बढऩे से पांच पंचायत मुख्यालय से अलग-थलग पड़े मुसीबत: राशन और दवाओंं के लिए पड़ोसी प्रांत पर निर्भरता राजेश कुमार झाड़ी बीजापुर (नवप्रदेश)। भोपालपट्टनम ब्लॉक की पांच पंचायतें बारिश के चलते मुख्यालय से अलग-थलग पड़ गई हैं और दो पंचायतों को  राशन आदि के लिए पड़ोसी प्रांत तेलंगाना के भरोसे रहना पड़ रहा है। चिंतावागु नदी में पानी बढ़ जाने के का रण सड़क संपर्क ब्लॉक मुख्यालय से कट गया है। मजबूरी में लोग नाव के सहारे मुख्यालय तक आ रहे हैं। चिंतावागु नदी के पार पांच पंचायतें कोत्तूर, अटुकपल्ली, भद्राकाली, चंदूर एवं रामपुरम बसीं हैं। जून में बारिश के चलते चिंतावागु में पानी बढ़ गया है। यहां प्रशासन की ओर से रपटा बनाया गया था। जून तक इस रपटे से बसों और दो पहिया वाहनों का आवागमन आसानी से होता था। बीजापुर से चेरला, वेंकटापुरम एवं चेरूकुरू तक बसों की आवाजाही हो
धार्मिक आस्था से संबंद्व भोरमदेव पदयात्रा में उमड़े श्रद्धालु

धार्मिक आस्था से संबंद्व भोरमदेव पदयात्रा में उमड़े श्रद्धालु

Uncategorized
उत्साह एवं भक्तिमय वातावरण में हुई पदयात्रा मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह आज भोरमदेव मंदिर में पूजा-अर्चना की कवर्धा, (नवप्रदेश)। प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह आज यहां कबीरधाम जिले के ऐतिहासिक, पुरात्ताविक, पर्यटन एवं धार्मिक आस्था के केन्द्र भोरमदेव मंदिर पहुंचकर पूजा-अर्चना की। इस अव सर पर उनकी पत्नी श्रीमती वीणा सिंह, लोक निर्माण, आवास एवं पर्यावरण, परिवहन एवं जिले के प्रभारी मंत्री श्री राजेश मूणत विशेष रूप से उपस्थित थे। श्रावण मास के प्रथम सोमवार को मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने भोरमदेव में पूजा अर्चना कर छत्तीसगढ़ की सुख शांति, समृद्धि एवं निरंतर प्रगति की कामना की। उन्होंने कहा कि आज का दिन अत्यंत शुभ दिन है और सावन मास का पहला सोमवार है। यहां भगवान महादेव के मंदिर में आकर छत्तीसगढ़ के सुख समृद्धि हेतु पूजा-अर्चना की है। भोरमदेव मंदिर अब कबीरधाम जिले के साथ-साथ पूरे छत्
मुंबई-दिल्ली में बैठकर नहीं बोल सकते- बस्तर ब्लैक होल है

मुंबई-दिल्ली में बैठकर नहीं बोल सकते- बस्तर ब्लैक होल है

Uncategorized
 बुद्धिजीवियों का 11 सदस्यीय टीम ने तीन दिवसीय बस्तर दौरे से लौटकर किए कई खुलासे रायपुर, (नव प्रदेश)। मुंबई और दिल्ली में बैठकर जब कोई कहता है कि छत्तीसगढ़ में सिर्फ नक्सलिओं आंतक का गढ़ और महिलाओं का शारीरिक शोषण होता है, तब मन ग्लानी और दुख से भर उठता है। क्या यहीं छत्तीसगढ़ और विशेषकर बस्तर की पहचान है। अपनी यह अभिव्यक्ति प्रेस वार्ता के दौरान उन 11 सदस्यीय टीम ने व्यक्त की है, जिन्होंने सच्चाई जानने के लिए लगातार 3 दिनों तक बस्तर के गली-कूचे में घूम आए थे। नहीं है छत्तीसगढ़ का बस्तर ब्लैक होल दरअसल नक्सलवाद की समस्या से ग्रस्त देश-दुनिया के चैनल्स, समाचारपत्रों में छत्तीसगढ़ का इफैक्ट ऐरिया बस्तर को रेड कैपिटल और ब्लैक होल के रूप में पेश किया जा रहा था, उन परिस्थितियों में सच जानने के लिए दिल्ली जेएनयू व डीयू के प्राध्यापकों, फिल्ममेकर, वकील और विद्यार्थियों के 11 सदस्यीय दल ने